बायला में गुलदार ने बकरी को बनाया निवाला

बायला में गुलदार ने बकरी को बनाया निवाला।

क्षेत्र की ग्राम पंचायत बायला के मजरा सारी खेड़ा में गुलदार ने एक बकरी को निवाला बना लिया। इसके एक सप्ताह पहले भी गुलदार इसी स्थान पर एक बैल को मौत के घाट उतार चुका है। गुलदार के हमले से क्षेत्र में दहशत का वातावरण बन गया है।

Wed, 21 Apr 2021 09:09 PM (IST)

संवाद सूत्र, चकराता: क्षेत्र की ग्राम पंचायत बायला के मजरा सारी खेड़ा में गुलदार ने एक बकरी को निवाला बना लिया। इसके एक सप्ताह पहले भी गुलदार इसी स्थान पर एक बैल को मौत के घाट उतार चुका है। गुलदार के हमले से क्षेत्र में दहशत का वातावरण बन गया है। पीड़ित पशुपालकों ने चकराता वन प्रभाग की कनासर रेंज के अधिकारियों से मुआवजा दिए जाने की मांग की है।

बायला के मजरा सारी खेड़ा स्थित चंदन ¨सह की छानी में गुलदार ने बुधवार की देर शाम हमला किया। हमले में बकरी की मौत हो गई जबकि एक बकरी गंभीर रूप से घायल हो गई। हमले के समय आसपास मौजूद ग्रामीणों के शोर मचाने पर गुलदार जंगल की तरफ भाग गया। पीड़ित चंदन ¨सह ने बताया कि गुलदार ने पिछले सप्ताह भी उनकी छानी में बंधे बैल पर हमला करके उसे मार डाला था।

गुलदार के बार-बार हमले से गांव में दहशत का वातावरण बन गया है। ग्राम निवासी ध्यान सिंह, अजब सिंह, साधुराम का कहना है कि गुलदार के हमले के संबंध में चकराता वन प्रभाग को सूचना दे दी गई है। उन्होंने वन विभाग से ग्रामीणों और उनके पालतु पशुओं की सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाने की मांग की है।

उधर, चकराता वन प्रभाग की कनासर रेंज के रेंजर एमएस गुंसाई का कहना है कि इसके पहले क्षेत्र में गुलदार का मूवमेंट नहीं देखा गया है। घटना के संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है। गुलदार की चहलकदमी पर नजर रखने और ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए क्षेत्र में गश्त बढ़ाई जाएगी। इसके अतिरिक्त ग्रामीण के नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजे की कार्रवाई की जाएगी।

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.