190 अटल उत्कृष्ट विद्यालयों की स्थापना के आदेश

कक्षा छह से 12वीं तक संचालित विद्यालयों में हिंदी व अंग्रेजी, दोनों माध्यम से सीबीएसई पाठ्यक्रम में शिक्षा दी जाएगी।

प्रदेश में हर ब्लॉक में दो-दो यानी 190 अटल उत्कृष्ट विद्यालयों की स्थापना का रास्ता साफ हो गया है। राज्यपाल की मंजूरी के बाद सरकार ने इन विद्यालयों की स्थापना के आदेश जारी कर दिए हैं। शिक्षा मंत्री के निर्देश पर इन विद्यालयों में वाणिज्य विषय की पढ़ाई कराई जाएगी।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 09:31 PM (IST) Author: Sumit Kumar

देहरादून, राज्य ब्यूरो। प्रदेश में हर ब्लॉक में दो-दो, यानी 190 अटल उत्कृष्ट विद्यालयों की स्थापना का रास्ता साफ हो गया है। राज्यपाल की मंजूरी के बाद सरकार ने इन विद्यालयों की स्थापना के आदेश जारी कर दिए हैं। विद्यालयों के संचालन, व्यवस्था और नियुक्ति के बारे में फैसले लेने को शिक्षा सचिव की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय समिति गठित की गई है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के निर्देश पर इन विद्यालयों में वाणिज्य विषय की पढ़ाई भी कराई जाएगी।

मंत्रिमंडल ने प्रदेश में अटल उत्कृष्ट विद्यालय योजना पर मुहर लगाई थी। शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि प्रत्येक ब्लॉक मुख्यालय या उसके नजदीकी स्थानों पर स्थित राजकीय इंटर कॉलेजों का चयन छात्र नामांकन के आधार पर किया जाएगा। कक्षा छह से 12वीं तक संचालित इन विद्यालयों में हिंदी व अंग्रेजी, दोनों माध्यम से सीबीएसई पाठ्यक्रम में शिक्षा दी जाएगी। छात्रों को ङ्क्षहदी या अंग्रेजी माध्यम का विकल्प चुनना होगा। विद्यालय में क्षमता से अधिक दाखिले के इच्छुक छात्रों का चयन प्रतिस्पर्धा से किया जाएगा।

विद्यालयों में प्रधानाचार्यों व शिक्षकों का चयन राजकीय विद्यालयों के प्रधानाचार्यों व शिक्षकों में से प्रतिनियुक्ति या सेवा स्थानांतरण के माध्यम से किया जाएगा। इन विद्यालयों के लिए चयनित प्रधानाचार्यों व शिक्षकों के लिए अंग्रेजी भाषा के साथ कंप्यूटर का विधिवत ज्ञान अनिवार्य होगा। अंग्रेजी भाषा में शिक्षण और बोलने, पढऩे व लिखने में भी उन्हें सक्षम होना आवश्यक है। कार्यालय व अन्य स्टाफ की नियुक्ति भी आवश्यकता के मुताबिक राजकीय विद्यालयों से प्रतिनियुक्ति या आउटसोर्स के माध्यम से की जाएगी।

विद्यालयों के संचालन को राज्यस्तरीय समिति में ये होंगे शामिल

अध्यक्ष- शिक्षा सचिव, सदस्य सचिव-माध्यमिक शिक्षा निदेशक, सदस्य-महानिदेशक शिक्षा, सचिव शिक्षा द्वारा नामित शासन का अधिकारी, प्रारंभिक शिक्षा निदेशक, अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण निदेशक, अपर निदेशक माध्यमिक शिक्षा गढ़वाल व कुमाऊं मंडल एवं संयुक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षा निदेशालय।

यह भी पढ़ें: एम्स निदेशक रवि कांत बोले, सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम के लिए टीकाकरण जरूरी

जिलास्तरीय समिति में ये होंगे शामिल

अध्यक्ष-जिलाधिकारी, सदस्य सचिव-मुख्य शिक्षा अधिकारी, सदस्य-संबंधित ब्लॉकों के उप जिलाधिकारी, माध्यमिक व प्रारंभिक शिक्षा के अपर जिला शिक्षा अधिकारी, संबंधित ब्लॉक शिक्षाधिकारी एवं अटल उत्कृष्ट विद्यालय के प्रधानाचार्य। यह समिति राज्यस्तरीय समिति के निर्देशन में काम करेगी।

वाणिज्य विषय के लिए 10 दिसंबर तक मांगा प्रस्ताव

प्रत्येक अटल उत्कृष्ट विद्यालय में वाणिज्य विषय की पढ़ाई होगी। शिक्षा मंत्री के निर्देश पर माध्यमिक शिक्षा निदेशक सभी जिलों के मुख्य शिक्षाधिकारियों को आदेश दिया है। इस योजना में शामिल विद्यालयों में वाणिज्य विषय संचालित नहीं है, वहां यह विषय शुरू करने के संबंध में प्रस्ताव मंडलीय अपर निदेशक के माध्यम से 10 दिसंबर तक अनिवार्य रूप से निदेशालय को भेजे जाएंगे।

यह भी पढ़ें: फिल्‍म तड़प की शूटिंग के लिए अभिनेता अहान शेट्टी पहुंचे मसूरी

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.