आइडीपीएल के जंगल में मिला युवती का शव, पुलिस ने ली फारेंसिक टीम की मदद

आइडीपीएल प्लांट से सटे जंगल में एक युवती का शव मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस युवती की हत्या की आशंका से इन्कार नहीं कर रही है। पुलिस ने फारेंसिक टीम की मदद से घटनास्थल से फिंगर प्रिंट तथा अन्य साक्ष्य एकत्र किए हैं।

Sunil NegiPublish:Thu, 09 Dec 2021 01:40 PM (IST) Updated:Thu, 09 Dec 2021 10:09 PM (IST)
आइडीपीएल के जंगल में मिला युवती का शव, पुलिस ने ली फारेंसिक टीम की मदद
आइडीपीएल के जंगल में मिला युवती का शव, पुलिस ने ली फारेंसिक टीम की मदद

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश : आइडीपीएल प्लांट से सटे जंगल में एक युवती का शव मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस युवती की हत्या की आशंका से इन्कार नहीं कर रही है। पुलिस ने फारेंसिक टीम की मदद से घटनास्थल से फिंगर प्रिंट तथा अन्य साक्ष्य एकत्र किए हैं।

गुरुवार दोपहर आइडीपीएल गोल चक्कर के समीप जंगल में कुछ लोग लकड़ी बीनने के लिए गए हुए थे। यहां जंगल में झाडिय़ों के बीच एक युवती का शव पड़ा मिला, जिसकी सूचना उन्होंने आइडीपीएल चौकी को दी। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव तथा आसपास क्षेत्र की जांच की। युवती के शव के पास ही उसकी चप्पलें तथा कुछ दूरी पर एक लाल रंग का बैग पड़ा मिला। पुलिस ने बैग की जांच की तो उसमें एक ट्रेन का टिकट, कपड़े और कुछ अन्य सामान मिला। एक कागज में रेलवे टिकट बुकिंग की डिटेल लिखी हुई थी। इस कागज के आधार पर शव की शिनाख्त आरती भोई (28 वर्ष) के रूप में की गई।

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रवि कुमार सैनी ने बताया कि मृतका के शरीर पर किसी तरह की चोट आदि के निशान नहीं मिले हैं। शव दो-तीन दिन पुराना प्रतीत हो रहा है। उन्होंने बताया कि फिलहाल मौत का सही कारण पोस्टमार्टम के बाद ही पता चल पाएगा। पुलिस ने फारेंसिक टीम को बुलाकर घटनास्थल की जांच कराई।

सूचना पाकर पुलिस उपाधीक्षक डीसी ढौंडियाल भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि सभी पहलुओं की बारीकी से जांच की जा रही है। युवती की हत्या की आशंका से भी इन्कार नहीं किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि शव को शिनाख्त के लिए मोर्चरी में रखा गया है।

स्थानीय नागरिक नहीं कर पाए शिनाख्त

आइडीपीएल प्लांट से सटे जंगल में मिले शव की शिनाख्त फिलहाल नहीं हो पाई है। जंगल में युवती का शव मिलने की सूचना के बाद मौके पर आसपास के नागरिकों की भारी भीड़ जुट गई। पुलिस ने आसपास टाउनशिप तथा कृष्णा नगर कालोनी में रहने वाले नागरिकों की मदद से शव की शिनख्त करने का प्रयास किया। मगर, सभी का यही कहना था कि उन्होंने इस युवती को पहले कभी आसपास क्षेत्र में नहीं देखा। मृतका के पास मिले रेल टिकट व एक कागज पर लिखे नाम व डिटेल के आधार पर ही पुलिस शिनाख्त करने का प्रयास कर रही है।

रेल टिकट को बनाया जांच का आधार

युवती के पास जो रेल टिकट मिला है, फिलहाल पुलिस उसके आधार पर ही जांच को आगे बढ़ा रही है। यह रेल टिकट कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस, जो आगे चलकर पुरी एक्सप्रेस के नाम से संचालित होती है। टिकट हरिद्वार से कटक (ओडिसा) तक का है और नौ नवंबर 2021 के लिए आरक्षित किया गया था। प्राथमिक जांच में पता चला कि उक्त टिकट को यात्रा से पूर्व ही कैंसिल कर दिया गया था। इससे यह उम्मीद लगाई जा रही है कि संभवतया युवती ओडिसा से संबंध रखती होगी। कागज पर मिले मोबाइल नंबर पर जब संपर्क करने की कोशिश की गई तो, वह स्विच आफ मिला। इसके अलावा युवती की पहचान तथा उसके यहां से संबंध पर आधारित कोई भी सुराग पुलिस को नहीं मिल पाया है। बहरहाल रेल टिकट ही पुलिस को पूरे मामले की असलियत तक पहुंचने में मदद कर सकता है।

यह भी पढ़ें:- साइबर ठगों ने ओएलएक्स पर बेड खरीदने के नाम पर ठगे सवा लाख रुपये