उत्‍तराखंड : 335 करोड़ की लागत से निखरेगा गैरसैंण राजधानी परिक्षेत्र

गैरसैंण राजधानी क्षेत्र को निखारने के लिए 335 करोड़ रुपये का प्रविधान किया गया है।

प्रदेश सरकार गैरसैंण को अस्थायी राजधानी और फिर कमिश्नरी घोषित करने के बाद इसे निखारने की कवायद में जुट गई है। इस कड़ी में गैरसैंण राजधानी क्षेत्र को निखारने के लिए 335 करोड़ रुपये का प्रविधान किया गया है।

Sunil NegiFri, 05 Mar 2021 04:20 PM (IST)

राज्य ब्यूरो, गैरसैंण। प्रदेश सरकार गैरसैंण को अस्थायी राजधानी और फिर कमिश्नरी घोषित करने के बाद इसे निखारने की कवायद में जुट गई है। इस कड़ी में गैरसैंण राजधानी क्षेत्र को निखारने के लिए 335 करोड़ रुपये का प्रविधान किया गया है। इससे गैरसैंण राजधानी क्षेत्र में सड़क निर्माण, पेयजल व स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ ही अवस्थापना सुविधाओं का विकास किया जाएगा।

प्रदेश सरकार इस समय गैरसैंण को लेकर काफी संवेदनशील नजर आ रही है। इस कड़ी में गैरसैंण में विकास कार्यों के लिए बजट का भी प्रविधान किया गया है। इसके तहत अवस्थापना विकास के लिए 50 करोड़ रुपये, सामरिक व पर्यटन की दृष्टि से अहम चौखुटिया हवाई पटटी के लिए 20 करोड़, विधानसभा भवन के लिए 10 करोड़ रुपये, अंतरराष्ट्रीय संसदीय अध्ययन शोध प्रशिक्षण संस्थान के लिए एक करोड़, गैरसैंण पेयजल योजना के लिए 106.87 करोड़, पीएनजीएसवाई में 93.25 करोड़, स्टेडियम के लिए 2. 42 करोड, दिवालीखाल-भराड़ीसैंण डबल लेन सड़क के लिए 8.67 करोड़, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को 50 बेड के अस्पताल के रूप में उच्चीकरण और सिमली और गैरसैंण में अस्पताल को सेटेलाइटन सेंटर बनाने के लिए 11.50 करोड़, ग्रोथ सेंटर के लिए 17.46 लाख रुपये का प्रविधान किया गया है।

परिवहन बस डिपो के लिए पांच करोड़, स्किल डेवलपमेंट के लिए एक करोड़, पुलिस बैरक के लिए दो करोड़ रुपये का प्रविधान किया गया है। इसके अलावा माध्यमिक शिक्षा के तहत सात विद्यालयों में दो और प्राथमिक शिक्षा के तहत छह विद्यालयों के लिए एक-एक अतिरिक्त कक्षा कक्ष का निर्माण किया गया है। उद्यान के अंतर्गत कोल्ड स्टोर एवं प्रोसेसिंग यूनिट के लिए 2.5 करोड़, मशरूम उत्पादन यूनिट के लिए एक करोड़, माली प्रशिक्षण केंद्र के लिए 15 लाख, चाय बोर्ड के अंतर्गत कालीमाटी के लिए दो करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही गैरसैंण में चाय बोर्ड कार्यालय बनाना प्रस्तावित है। वहीं दूधातौली तक नेचर ट्रेल, गैरसैंण कमिश्नरी में डीआईजी आफिस बनाया जाना प्रस्तावित है। टाउन प्लानिंग के लिए भी जल्द टेंडर होंगे।

भराड़ी सैंण में बनेगा आधनुकि हेलीपैड

प्रदेश सरकार भराड़ीसैंण में हेलीपैड को उच्चीकृत करने की तैयारी कर रही है। इसके तहत यहां हेलीपैड निर्माण को दो करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। यह हेलीपैड इस प्रकार का बनाया जाएगा कि यदि राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भी आना चाहें तो यहां एक समय में तीन एमआइ हेलीकाप्टर उतारे जा सकें।

यह भी पढ़ें-भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा- सरकार के कार्यों में दिख रहा डबल इंजन का असर

 

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.