पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा- किशोर के कहने पर ही तय किया सहसपुर से टिकट

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के उन्हें 2017 में सहसपुर सीट से चुनाव लड़ाने को बड़ी साजिश करार देने पर जवाब भी दिया तो चेतावनी भी दी। कहा कि किशोर के कहने पर ही सहसपुर सीट के लिए उनका नाम तय किया था।

Sunil NegiSat, 20 Nov 2021 11:03 PM (IST)
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा- किशोर के कहने पर ही तय किया सहसपुर से टिकट।

राज्य ब्यूरो, देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के उन्हें 2017 में सहसपुर सीट से चुनाव लड़ाने को बड़ी साजिश करार देने पर जवाब भी दिया तो चेतावनी भी दी। उन्होंने कहा कि किशोर के कहने पर ही स्क्रीनिंग कमेटी ने सहसपुर सीट के लिए उनका नाम तय किया था। उन्होंने यह भी कहा कि राजनीति के अंदर मीठे के साथ कड़वा भी सुनना पड़ता है। यह देखना होगा कि संयम कहां तक साथ देता है।

इंटरनेट मीडिया पर अपनी पोस्ट में हरीश रावत ने किशोर उपाध्याय के आरोपों पर पलटवार किया। उन्होंने कहा कि पार्टी उन्हें टिहरी के नेता के रूप में आज भी देखती है, पहले भी देखती रही है। 2017 में वह ऋषिकेश से चुनाव लड़ना चाहते थे तो सभी ने उनके संकेत का स्वागत किया था। इसके बाद डोईवाला, रायवाला का भी उन्होंने आकलन किया। स्क्रीनिंग कमेटी के सभी सदस्यों के सामने उन्होंने अपने परिवार के व्यक्तियों से भी पूछा। उधर से भी सुझाव आया कि सहसपुर से चुनाव लड़िये। उन्होंने तंज कसा कि अब यह षडयंत्र न जाने कितना बड़ा हो गया। ऐसा लगता है कि 2016-17 में वह कुछ नहीं कर रहे थे, सिर्फ उनके खिलाफ षडयंत्र ही कर रहे थे।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हम आगे बढ़ते हैं तो उसमें बहुत व्यक्तियों का हाथ होता है। उन सभी को षडयंत्री समझ लेना न्यायसंगत नहीं है। इस पर विचार किया जाना चाहिए। बार-बार यह कहने से हमारा ही नुकसान हो रहा है।

-------------------------------------------------

सिद्धू के बयान को लेकर कांग्रेस पर बरसे आरपी सिंह

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को बड़ा भाई बताने संबंधी बयान को लेकर भाजपा ने कांग्रेस के विरुद्ध हमलावर तेवर अख्तियार किए हैं। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं उत्तराखंड के सह चुनाव प्रभारी सरदार आरपी सिंह ने इस मामले में कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि यह कांग्रेस की संस्कृति है। ये इस बात का भी उदाहरण है कि तुष्टिकरण के लिए कांग्रेस किस हद तक जा सकती है।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सरदार आरपी सिंह ने कहा कि कांग्रेस नेता सिद्धू ने इमरान खान को बड़ा भाई बताया है। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत भी पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल बाजवा को बड़ा भाई बता चुके हैं। इमरान खान और बाजवा मिलकर भारत के जवानों पर हमला करते हैं। उन्होंने कहा कि हरीश रावत जैसा व्यक्ति कांग्रेस हाईकमान की मर्जी के बाहर एक शब्द नहीं बोल सकते। यही स्थिति नवजोत सिंह सिद्धू की भी है।

यह भी पढ़ें: हरीश रावत का धामी सरकार पर आरोप, परिसंपत्तियों के मामले में उत्तर प्रदेश के सामने किया आत्मसमर्पण

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.