दून में जल्द खुलेगा पांच सितारा होटल, यहां बनकर हुआ तैयार; जानिए

देहरादून, राज्य ब्यूरो। राजधानी देहरादून में अगले छह माह के भीतर पांच सितारा होटल संचालित होने लगेगा। राजपुर के मालसी क्षेत्र में हयात ग्रुप के 260 कमरे का होटल बनकर तैयार हो चुका है और अगले छह माह से इसके संचालन संभावना है। इसके अलावा जल्द ही ताज और क्राउन प्लाजा जैसी होटल श्रृंखला भी प्रदेश में होटल बनाने जा रही हैं।

शुक्रवार को सचिवालय में सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने उत्तराखंड में पांच सितारा होटलों की संख्या बढ़ाने के संबंध में होटल डेवलेपर्स रियल और स्टेट बिल्डर्स के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने होटल व्यवसायियों से विभिन्न विभागों से अपेक्षित प्रमाण पत्र प्राप्त करने में आ रही समस्याओं के संबंध में चर्चा की। उन्होंने भूउपयोग परिवर्तन और भूमि खरीद में आ रही कठिनाइयों की ओर सचिव पर्यटन का ध्यान आकर्षित किया। इस दौरान सचिव पर्यटन को ताज ग्रुप के निर्माणाधीन रिजॉर्ट के लिए अतिरिक्त भूमि के भू उपयोग परिवर्तन के संबंध में जानकारी दी गई।

वहीं, एक अन्य बिल्डर ने राजपुर रोड में प्रस्तावित पांच सितारा होटल के मानचित्र के अनुमोदन में आ रही समस्या के बारे में बताया। सचिव पर्यटन ने इन समस्याओं का निस्तारण किए जाने की भी बात कही। उन्होंने बताया कि राज्य में जल्द ही प्रतिष्ठित होटलों के 500 कमरे उपभोक्ताओं को उपलब्ध होने जा रहे हैं। ऐसा होने पर उत्तराखंड व्यावसायिक, आध्यात्मिक और अन्य प्रकार की कांफ्रेंस, प्रदर्शनियों और सेमिनार आदि के आयोजन के केंद्र में रूप विकसित होगा। इनसे न केवल पर्यटकों को सुविधाएं मिलेंगी, बल्कि युवाओं को राज्य में रोजगार भी प्राप्त हो सकेंगे। 

यह भी पढ़ें: World tourism day: टिहरी के ताल व बुग्यालों की खूबसूरती खींच लाती है पर्यटकों को

महिला होम स्टे को प्रोत्साहित करने को कार्यशालाएं

पर्यटन विभाग होम स्टे से जुड़ी महिला उद्यमियों को आय के अतिरिक्त स्रोत उपलब्ध कराने के उद्देश्य से राष्ट्रीय एवं राज्य महिला आयोग के सौजन्य से कार्यशालाओं का आयोजन करा रहा है। अंतरराष्ट्रीय संस्था एयर बी एन बी के समन्वय से ये कार्यशालाएं देहरादून और अल्मोड़ा में होंगी। देहरादून में यह कार्यशाला शनिवार और अल्मोड़ा में 20 अक्टूबर को होगी। सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने बताया कि एयर बीए बी एक अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त व्यावसायिक श्रृंखला है। इससे पंजीकृत होने के बाद महिला होम स्टे संचालकों की बेहतर मार्केटिंग होगी और उन्हें अधिक से अधिक बुकिंग भी मिल सकेगी।

यह भी पढें: कम खर्चे में करना चाहते हैं पहाड़ों की रानी का दीदार, तो इस खबर को जरूर पढ़ें

 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.