शापिंग काम्पलेक्स और ग्रुप हाउसिंग में ईवी चार्जिंग स्टेशन जरूरी, ईवी की तरफ एमडीडीए ने बढ़ाया कदम

वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर को कम करने के लिए पेट्रोल-डीजल की खपत करना भी जरूरी है। इसके लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल (ईवी) को अधिक से अधिक अपनाने की जरूरत है। विश्व के तमाम देश भी ईवी की तरफ तेजी से बढ़ रहे हैं।

Sumit KumarThu, 02 Dec 2021 06:00 PM (IST)
विभिन्न शापिंग काम्पलेक्स व ग्रुप हाउसिंग में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए ईवी चार्जिंग स्टेशन अनिवार्य होगा।

जागरण संवाददाता, देहरादून: वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर को कम करने के लिए पेट्रोल-डीजल की खपत करना भी जरूरी है। इसके लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल (ईवी) को अधिक से अधिक अपनाने की जरूरत है। विश्व के तमाम देश भी ईवी की तरफ तेजी से बढ़ रहे हैं। अब उत्तराखंड की राजधानी दून में मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण (एमडीडीए) ने भी बड़ा कदम बढ़ाया। तय किया गया है कि विभिन्न शापिंग काम्पलेक्स व ग्रुप हाउसिंग में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए ईवी चार्जिंग स्टेशन अनिवार्य होगा।

ईवी चार्जिंग स्टेशन को लेकर एमडीडीए उपाध्यक्ष बृजेश कुमार संत ने बुधवार को अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान उत्तराखंड सरकार की ईवी पालिसी पर चर्चा की गई। उपाध्यक्ष ने अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया कि एमडीडीए किस तरह सरकार की ईवी पालिसी की दिशा में बेहतर काम कर सकता है। स्वच्छ दून के लिए ईवी पालिसी पर काम करना जरूरी है। उपाध्यक्ष ने कहा कि वर्तमान में तमाम लोग इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रयोग करने लगे हैं। मगर, इस दिशा में सबसे बड़ी मुश्किल चार्जिंग स्टेशन की आ रही है, क्योंकि जब तक चार्जिंग स्टेशन सुलभ नहीं होगा, तब तक बड़ा तबका इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने में संकोच करेगा।

लिहाजा, तय किया गया कि भविष्य में विभिन्न शापिंग काम्पलेक्स व ग्रुप हाउसिंग (बड़ी आवासीय परियोजना) के निर्माण का नक्शा तब स्वीकार किया जाएगा, जब उसमें ईवी चार्जिंग स्टेशन का प्रविधान होगा। उन्होंने निर्देश दिए कि नई व्यवस्था की जानकारी सभी आर्किटेक्ट को दे दी जाए। ताकि नक्शा बनाते समय उसमें चार्जिंग स्टेशन की व्यवस्था की जा सके।

यह भी पढ़ें- करोड़ों के घाटे में डूबे रोडवेज को Fastag के बाद अब डीजल में चपत, अधिकारियों की लापरवाही पड़ रही भारी

चार से 10 चार्जिंग प्वाइंट होने जरूरी

बैठक में एमडीडीए उपाध्यक्ष संत ने निर्देश दिए कि प्रत्येक चार्जिंग स्टेशन पर क्षमता के मुताबिक चार से 10 चार्जिंग प्वाइंट होने जरूरी है। ताकि एक बार में कई वाहनों को चार्ज किया जा सके। बैठक में संयुक्त सचिव रजा अब्बास, अधीक्षण अभियंता एचसीएस राणा आदि उपस्थित रहे।

पुराने निर्माण को चार्जिंग स्टेशन की व्यवस्था पर मिलेगा कम्पलीशन सर्टिफिकेट

एमडीडीए उपाध्यक्ष ने कहा कि वर्तमान में तमाम शापिंग काम्पलेक्स व ग्रुप हाउसिंग या तो बन चुके हैं या उनका निर्माण चल रहे है। ऐसे में इनके लिए भी चार्जिंग स्टेशन का प्रविधान करना जरूरी है। तय किया गया कि इस तरह के निर्माण को कम्पलीशन सर्टिफिकेट (कार्यपूर्ति प्रमाण पत्र) तभी जारी किया जाएगा, जब वह चार्जिंग स्टेशन की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड में टेंशन बढ़ा रहा कोरोना, अब तक 50 पुलिसकर्मी मिले संक्रमित; 13 हजार की हो चुकी है जांच

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.