सावधान: गली से लेकर हाईवे तक गजराज की धमक, राजाजी टाइगर रिजर्व से सटे रिहायशी क्षेत्र में बढ़ रही आमद

इन दिनों राजाजी टाइगर रिजर्व से सटे रिहायशी क्षेत्र में हाथी की धमक बढ़ रही है। गांव की गली हो या हाईवे पर कब हाथी से सामना हो जाए कहा नहीं जा सकता इसलिए इन दिनों सड़क पर चलते हुए बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है।

Raksha PanthriTue, 27 Jul 2021 07:51 AM (IST)
आबादी वाले क्षेत्रों में बढ़ रहा गजराज का दखल।

संवाद सूत्र, रायवाला: इन दिनों राजाजी टाइगर रिजर्व से सटे रिहायशी क्षेत्र में हाथी की धमक बढ़ रही है। गांव की गली हो या हाईवे पर कब हाथी से सामना हो जाए कहा नहीं जा सकता, इसलिए इन दिनों सड़क पर चलते हुए बेहद सावधानी बरतने की जरूरत है। यह बात यूं ही नहीं, बल्कि रिहायशी क्षेत्र की तरफ बढ़ती हाथी की आवाजाही को देखकर कही जा रही है।

सोमवार रात एक हाथी रायवाला गांव में मन्नत कालोनी में घुसा, फिर वहां से धान के खेतों में होता हुआ प्रतीतनगर की तरफ चला गया। इसके बाद हाथी बनखंडी मोहल्ले की गलियों में घूमता रहा। इस दौरान हाथी ने आस-पास के खेतों में धान की फसल रौंद दी। सुबह के वक्त हाथी सत्यनारायण मंदिर के पास हाईवे पर पहुंच गया। उस वक्त हाईवे पर ट्रैफिक भी काफी था। हालांकि वहां पर मौजूद वन कर्मियों ने ट्रैफिक रोक दिया।

इसके बाद हाथी को हाईवे पार कर जंगल की दूसरी तरफ चला गया। यह क्षेत्र राजाजी टाइगर रिजर्व से हटा है। ग्रामीण क्षेत्र में धान की फसल तैयार होने लगी है, जिनको खाने के लिए हाथी अब खेतों की तरफ रुख करने लगे हैं।

वही रिहायशी क्षेत्र में बढ़ती हाथी की आवाजाही से जान माल के नुकसान का खतरा भी बन रहा है। बता दें कि बीते रविवार रात गौहरी रेंज में नीलकंठ मार्ग पर आए हाथी ने दो बाइक सवार युवकों को पटक दिया था, जिसमें से एक की मौत हो गई थी।

वहीं वन्य जीव विशेषज्ञों का कहना है कि मानसून सीजन हाथियों का प्रजजन काल होता है। ऐसे में वह अक्सर आक्रामक हो जाते हैं। वन्य जीव प्रतिपालक एलपी टम्टा ने बताया कि प्रजजन काल के अलावा धान व गन्ने की फसल की वजह से इन दिनों हाथी का मूवमेंट गांव की तरफ बढ़ जाता है। इसकी रोकथाम के लिए गश्ती टीम तैनात की गई है।

इस साल अब तक छह की मौत

उत्तराखंड में वन्यजीव आमजन की मुश्किलें बढ़ा रहे हैं। सबसे ज्यादा आतंक गुलदार और हाथियों का है। आए दिन यहां गुलदार के लोगों पर हमला करने और उन्हें अपना निवाला बनाने की घटनाएं सामने आ रही हैं तो वहीं हाथी ने भी मुश्किलें बढ़ रखी हैं। आए दिन आबादी वाले इलाकों में घुसकर वो लोगों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। रविवार आधी रात को ऋषिकेश के समीप फूलचट्टी में हाथी ने हमला कर बाइक सवार युवक को मार डाला।

वहीं, उसके साथी ने भागकर जान बचायी। युवक मूलरूप से पौड़ी का रहने वाला था। इस इलाके में पांच माह में हाथी के हमले की यह दूसरी घटना है। इससे पहले 22 फरवरी को भी हाथी के हमले में एक युवक की मौत हो गई थी। इस साल एक जनवरी से अब तक छह लोग हाथी के हमले में जान गंवा चुके हैं, जबकि आठ जख्मी हुए हैं।

यह भी पढ़ें- Video: दो साल की बच्ची को आंगन से उठाकर ले जाने वाला गुलदार ढेर, जॉय हुकिल की गोली का हुआ शिकार

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.