देहरादून की डा. कंचन का नाम नेशंस प्राइड बुक ऑफ रिकार्ड्स में हुआ दर्ज, ये खिताब भी किए नाम

राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय ट्रेनिंग व रिसर्च के क्षेत्र में उत्तराखंड की बेटी डा. कंचन नेगी को राष्ट्रीय गौरव पुरस्कार मिला है। यह पुरस्कार उन्हें गोल्डन एरा संस्था ने एक आनलाइन कार्यक्रम के दौरान प्रदान किया। इसके जरिए इनका नाम नेशंस प्राइड बुक ऑफ रिकार्ड्स में भी दर्ज हुआ है।

Sumit KumarSun, 18 Jul 2021 04:58 PM (IST)
राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय ट्रेनिंग व रिसर्च के क्षेत्र में डा. कंचन नेगी को राष्ट्रीय गौरव पुरस्कार मिला है।

जागरण संवाददाता, देहरादून: राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय ट्रेनिंग व रिसर्च के क्षेत्र में उत्तराखंड की बेटी डा. कंचन नेगी को राष्ट्रीय गौरव पुरस्कार मिला है। यह पुरस्कार उन्हें गोल्डन एरा संस्था ने एक आनलाइन कार्यक्रम के दौरान प्रदान किया। इसके जरिए इनका नाम नेशंस प्राइड बुक ऑफ रिकार्ड्स में भी दर्ज हुआ है।

मूल रूप से चमोली के नारायणबगढ़ निवासी डा. कंचन नेगी वर्तमान में देहरादून के विद्या विहार में रहती हैं। डा. नेगी ने बताया कि देश के टॉप 10 व्यक्तियों को शिक्षा, स्वास्थ्य, सामाजिक क्षेत्र में राष्ट्रीय गौरव पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके अलावा ग्लोबल एजुकेशन सम्मिट 2021 की ओर से उन्हें आउटस्टेंडिंग ग्लोबल ट्रेनिंग प्रोफेशन अवार्ड से सम्मानित किया है। डा. नेगी अंतरराष्ट्रीय ट्रेनर, रिसर्च एवं डेवलपमेंट एक्सपर्ट, काउंसलर हैं। इससे पहले भी उन्होंने एशिया पेसिफिक एक्सीलेंस अवार्ड, इंटरनेशनल एजुकेशन अवार्ड समेत कई राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त किए हैं। उनका कहना है कि शिक्षा ही सफलता की कुंजी है। इसलिए इस ओर सभी को आगे बढ़ाना चाहिए। सफलता के रास्ते में अनिश्चितता एक बड़ी बाधा है, लेकिन दृढ़ संकल्प से हर मुश्किल को आसान किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें- खबरदार! कोरोना जांच की फर्जी रिपोर्ट के साथ आ रहे हैं यहां तो थाम लें कदम, नहीं तो खानी पड़ सकती है जेल की हवा

 

डा. अदिति शर्मा को इंस्पायरिंगग लेडी वेट्स सम्मान

देहरादून: उत्तराखंड की पशुचिकित्सक डा. अदिति शर्मा को इंस्पायरिंग लेडी वेट्स अवार्ड से नवाजा गया है। देश की 117 महिला पशुचिकित्सकों में उन्हें 14वां स्थान प्राप्त हुआ है। उन्हें यह अवार्ड पशुधन प्रहरी संस्था की ओर से प्रदान किया गया। अदिति ने फेसबुक पर पोस्ट कर इस सम्मान के लिए आभार जताया। डा. अदिति राजाजी राष्ट्रीय उद्यान में सेवाएं दे चुकी हैं। इस दौरान उन्होंने चुनौतिपूर्ण वातावरण में उत्कृष्ट कार्य कर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। उन्हें इससे पहले भी कई संस्थाएं सम्मानित कर चुकी हैं।

यह भी पढ़ें- पानी की किल्लत से जूझ रहा गंगा और यमुना का उद्गम स्थल उत्तराखंड, यहां परवान नहीं चढ़ी वर्षा जल संरक्षण योजना

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.