दून उद्योग व्यापार मंडल ने सिंगल यूज प्लास्टिक प्रतिबंध पर उठाए सवाल

दून उद्योग व्यापार मंडल ने सिंगल यूज प्लास्टिक प्रतिबंध पर सवाल उठाए।

दून उद्योग व्यापार मंडल ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के तरीके व जुर्माना वसूलने पर सवाल खड़े किए हैं। मंगलवार को व्यापार मंडल की बैठक में पदाधिकारियों ने कहा कि वह किसी भी प्रकार से प्लास्टिक के उपयोग के पक्ष में नहीं हैं।

Sunil NegiWed, 03 Mar 2021 04:36 PM (IST)

जागरण संवाददाता, देहरादून। दून उद्योग व्यापार मंडल ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाने के तरीके व जुर्माना वसूलने पर सवाल खड़े किए हैं। मंगलवार को व्यापार मंडल की बैठक में पदाधिकारियों ने कहा कि वह किसी भी प्रकार से प्लास्टिक के उपयोग के पक्ष में नहीं हैं। लेकिन, इस बारे में जारी शासनादेश के कई बिंदुओं से व्यापारी सहमत नहीं हैं। बताया कि देहरादून के व्यापारी वर्ग के मन में अधिसूचना को लेकर कई भ्रांतियां हैं, जिन्हें नगर निगम की ओर से दूर किया जाना चाहिए। दून उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष विपिन नागलिया व कार्यकारी अध्यक्ष सिद्धार्थ उमेश अग्रवाल ने बताया कि बीते 16 फरवरी को व्यापारियों के प्रतिनिधिमंडल ने महापौर से अधिसूचना के कई बिन्दूओं पर चर्चा की थी।

चर्चा के दौरान बताया कि कर्मचारी सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध की मौखिक रूप से जानकारी दे रहे हैं। इसके विस्तृत बिंदु व जुर्माने के बारे में पहले व्यापारियों को अवगत करवाया जाए, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। कहा कि कार्रवाई को लेकर सरकार व शासन की स्वयं की कोई तैयारी नहीं है और अचानक से यह कह दिया गया है कि सिंगल यूज प्लास्टिक पूर्ण रूप से बंद हो गया है। इसके प्रयोग करने पर चालान कटेगा, जिससे व्यापारी खफा हैं। व्यापारियों का तर्क है कि दर्जनों वस्तु बाजार में पन्नी में पैक होकर आ रही हैं इसको लेकर व्यापारी का कोई दोष नहीं है।

पॉलीथिन इस्तेमाल करने पर छह का हुआ चालान

शहर में प्रतिबंधित पॉलीथिन व सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग करने पर नगर निगम की टीम ने मंगलवार को आधा दर्जन व्यक्तियों का चालान किया। नगर आयुक्त विनय शंकर पांडेय ने बताया कि तहसील सब्जी मंडी, मोती बाजार मंडी, हनुमान चौक, झंडा बाजार व आढ़त बाजार में निगम की टीमों ने पॉलीथिन का उपयोग करने वालों पर नजर रखी। इस दौरान पहले की अपेक्षा जागरूकता देखी गई और काफी कम लोग पॉलीथिन का उपयोग करते हुए पकड़े गए। छह व्यक्तियों का चालान करते हुए 13 सौ रुपये जुर्माना वसूला गया। इस दौरान आमजन व व्यापारियों को जागरूक भी किया गया। दूसरी तरफ, मुख्य मार्ग पर मलबा और रेत-बजरी रखकर अतिक्रमण करने करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई जारी रही। इसमें छह व्यक्तियों का चालान कर 24 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया।

यह भी पढ़ें-40 रुपये के लिए केले और हो गया 100 रुपये का हुआ चालान, जानिए पूरा मामला

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.