देहरादून: एम्स जोधपुर के निदेशक डा. संजीव मिश्रा बोले, स्वास्थ्य के लिहाज से एक बेहतर माडल की जरूरत

ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर करने के लिए एक बेहतर माडल को लागू करने की जरूरत है। ताकि जन सामान्य को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सके। यह बात यूकास्ट के सभागार में आयोजित व्याख्यान में बतौर मुख्य वक्ता एम्स जोधपुर के निदेशक डा. संजीव मिश्रा ने कही।

Raksha PanthriSat, 27 Nov 2021 02:59 PM (IST)
एम्स जोधपुर के निदेशक डा. संजीव मिश्रा बोले, स्वास्थ्य के लिहाज से एक बेहतर माडल की जरूरत।

जागरण संवाददाता, देहरादून। शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर करने के लिए एक बेहतर माडल को लागू करने की जरूरत है। ताकि जन सामान्य को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सके। यह बात शुक्रवार को यूकास्ट के सभागार में आयोजित व्याख्यान में बतौर मुख्य वक्ता एम्स जोधपुर के निदेशक डा. संजीव मिश्रा ने कही।

डा. मिश्रा ने कहा कि यह फार्मास्युटिकल और बायोटेक्नोलाजी क्षेत्र में घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने का एक अवसर है, जो हमारी अर्थव्यवस्था के साथ स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं को भी बढ़ावा देगा। उन्होंने कहा कि हमें होम हेल्थ केयर से समाधान पेश करने की जरूरत है, क्योंकि भारत में बुजुर्गों की आबादी बढ़ रही है।

उन्होंने एम्स जोधपुर की ओर से परामर्शित चार स्टार्टअप और आइआइटी-एम्स जोधपुर की ओर से चिकित्सा प्रौद्योगिकी में सहयोगी कार्यक्रम की शुरुआत को लेकर जानकारी दी। पूर्व निदेशक वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान डा.बीआर अरोड़ा ने नेशनल एकेडमी फार साइंसेस (नासी) उत्तराखंड चैप्टर की वैज्ञानिक गतिविधियों की जानकारी दी। महानिदेशक यूकास्ट डा. राजेंद्र डोभाल ने यूकास्ट और नासी उत्तराखंड चैप्टर की ओर से आयोजित विज्ञानी गतिविधियों की जानकारी दी।

पदमश्री व एचएनबी गढ़वाल विवि के पूर्व वीसी प्रो. एएन पुरोहित ने कहा कि कोविड ने चिकित्सक और मरीज के रिश्ते तक को बदलकर रख दिया है। उन्होंने पौधे पर आधारित आरएनए वायरस और संबंधित शोध लेखों के बारे में जानकारी दी। उत्तराखंड राज्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद और राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी उत्तराखंड अध्याय की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में यूसीओएसटी के संयुक्त निदेशक डा. डीपी उनियाल, यूएएफडीसी के पूर्व एमडी एसटीएस लेपचा आदि मौजूद थे।

संविधान दिवस पर शिविर में 1287 यूनिट रक्तदान

उत्तरांचल विश्वविद्यालय के ला कालेज देहरादून में संविधान दिवस पर आयोजित रक्तदान शिविर में शिक्षकों, कर्मचारियों व छात्रों ने उत्साह के साथ भाग लिया। इस दौरान शिविर में 1287 यूनिट रक्तदान किया गया। शुक्रवार को आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पद्मभूषण डा. अनिल प्रकाश जोशी ने विश्वविद्यालय की शौर्य दीवार पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस मौके पर ला कालेज के जर्नल ने ला रिव्यू के 13वें संस्करण का विमोचन भी किया। इस मौके पर ला कालेज के प्रो. राजेश बहुगुणा, कुलपति प्रो. धर्म बुद्धि, कुलाधिपति जितेन्द्र जोशी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- कोरोना वायरस के नए वेरिएंट को देख सीएम धामी की अपील, कोरोना से बचाव को जारी गाइडलाइन का करें पालन

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.