top menutop menutop menu

कमेटी के तीन रुपये लाख लेकर संचालक फरार, पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा Dehradun News

देहरादून, जेएनएन। कमेटी के तीन लाख रुपये लेकर एक और संचालक फरार हो गया। कई दिनों की तलाश के बाद जब उसका कहीं कुछ पता नहीं चला तो पीड़ित ने डालनवाला कोतवाली में तहरीर दी। जिस पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस की मानें तो ठगी के शिकार लोगों की संख्या अभी और बढ़ सकती है।

जागरूकता की तमाम कोशिशों के बाद भी लोग किटी-कमेटी में पैसे लगाकर मुनाफा कमाने के लालच से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। डालनवाला में सामने आया मामला इसका ताजा उदाहरण है। पुलिस के अनुसार गुरुप्रीत सिंह सैनी निवासी ओल्ड सर्वे रोड डालनवाला दिलाराम चौक पर मिठाई की दुकान चलाते हैं। पास में ही नरेश कुमार बवेजा नाम का एक शख्स दुकान खोल रहा था। गुरुप्रीत का आरोप है कि कई वर्षो से मेलजोल होने के कारण उस पर विश्वास हो गया।

पिछले साल अक्टूबर में नरेश ने कहा कि वह कमेटी चलाता है। 26 हजार रुपये दस महीने तक जमा करने पर उसे तीन लाख रुपये मिलेंगे। विश्वास में लेने के लिए नरेश ने उसे तीन लाख रुपये का जुलाई 2019 का एक चेक भी दिया। इसके बाद वह रकम जमा करने लगे। बीते जुलाई महीने में दस किश्तें जमा करने के बाद नरेश से संपर्क किया तो उसने 25 जुलाई को रकम लौटाने को कहा। बताई तिथि पर जब उसकी दुकान पर गया तो दुकान बंद थी। आसपास के लोगों ने बताया कि वह दुकान खाली कर जा चुका है। किसी तरह उसके घर के बारे में पता किया गया तो मालूम हुआ कि वह सहस्रधारा रोड पर गंगोत्री विहार में रहता था।

यह भी पढ़ें: किटी धोखाधड़ी में दो बहराइच से गिरफ्तार, मुख्य आरोपित फरार

वहां जाने पर पता चला कि यहां भी वह किराये पर रहता था और 21 जुलाई को ही सामान समेटकर जा चुका है। इंस्पेक्टर राजीव रौथाण ने बताया कि नरेश के दोनों मोबाइल नंबर बंद आ रहे हैं। उनकी सीडीआर निकलवा कर लोकेशन ट्रेस करने की कोशिश की जा रही है। इसके साथ सीसीटीवी फुटेज भी निकलवाई जा रही है कि नरेश यहां से किस रूट से और कौन से वाहन से शहर से बाहर गया है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: किटी-कमेटी में मुनाफे की एवज में मिल रहा धोखा, 10 माह में सामने आए 31 मामले

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.