Eid al Adha 2021: देहरादून में खूब हुई बकरों की खरीदारी, 90 हजार रुपये में बिका सुल्तान और 65 हजार में सुल्ताना

बकरीद में कुर्बानी के लिए देहरादून में इस बार बकरों की खूब खरीदारी हुई। आइएसबीटी माजरा इनामुल्ला बिल्डिंग में बकरों की अस्थायी मंडी लगी है। इस बार 15 से 90 हजार तक में बकरे बिके। आइएसबीटी में सबसे ज्यादा 90 हजार का सुल्तान और 65 हजार का सुल्ताना बकरा बिका।

Sunil NegiTue, 20 Jul 2021 07:21 PM (IST)
बकरीद में कुर्बानी के लिए देहरादून में इस बार बकरों की खूब खरीदारी हुई।

जागरण संवाददाता, देहरादून। Eid al Adha 2021 बकरीद में कुर्बानी के लिए देहरादून में इस बार बकरों की खूब खरीदारी हुई। आइएसबीटी, माजरा, इनामुल्ला बिल्डिंग में बकरों की अस्थायी मंडी लगी है। सुबह से ही स्थानीय, सहारनपुर, विकासनगर, नजीबाबाद से व्यापारी बकरे लेकर पहुंचे। वजन, रंग को देखकर ग्राहकों ने बकरों की खरीदारी की। इस बार 15 से लेकर 90 हजार तक में बकरे बिके। आइएसबीटी में सबसे ज्यादा 90 हजार का सुल्तान और 65 हजार का सुल्ताना बकरा बिका।

हर वर्ष बकरीद से दो से तीन दिन पहले मंडी लगती है, जिसमें कई जगह से व्यापारी आते हैं। हालांकि बीते वर्ष कोरोनाकाल के चलते मंडी नहीं लग पाई। इस बार मंडी में काफी संख्या में बकरे लेकर आए व्यापारी उनकी खासियत को गिनाते नजर आए तो ग्राहक भी खरीदारी को लेकर काफी उत्साहित दिखे। आइएसबीटी स्थित मंडी में सहारनपुर से पहुंचे व्यापारी नासिर ने बताया कि देहरादून तेलपुर निवासी रहमान ग्राहक ने उन्हें सबसे स्वस्थ व रंगदार बकरा लाने को कहा था, मंडी में इसकी कीमत सभी बकरों में सबसे ज्यादा रही, अन्य लोग इस तीन वर्ष के स्वस्थ सुल्तान बकरे के 92 हजार देने को तैयार थे, लेकिन रहमान ने खरीदने का वादा किया था। इसलिए सुल्तान बकरे को 90 हजार का बेचा। इसके अलावा दो वर्ष का सुल्ताना 65 हजार रुपये में बिका।

उत्तर प्रदेश के बिजनौर से बकरा लेकर पहुंचे दानिश ने बताया कि कोरोनाकाल के चलते पर्वतीय क्षेत्रों से जो बकरे आते थे वह इस बार नहीं आए, इसलिए कम संख्या के चलते बकरे के दाम बढ़े हैं। जो पहले 10 हजार का था उसकी कीमत 15 हजार रुपये तक है।

कुर्बानी का पर्व ईद-उल-अजहा बुधवार को

कुर्बानी का पर्व ईद-उल- अजहा (बकरीद) सादगी के साथ मनाया जाएगा। कोरोना गाइडलाइन के तहत इस बार ईदगाह में सामूहिक नमाज नहीं होगी, शहर की विभिन्न मस्जिदों में लोग 7:30 से 10 बजे तक अलग- अलग समय पर शारीरिक दूरी बनाकर नमाज अदा कर सकेंगे। इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार 12वें महीने में चांद दिखने के 10वें दिन ईद-उल- अजहा (बकरीद) मनाई जाती है। इस बार कोरोनाकाल को देखते हुए उलेमा ने सभी से शारीरिक दूरी बनाकर बकरीद की नमाज अदा करने की अपील की है। शहर काजी मौलाना मोहम्मद अहमद कासमी ने कहा कि कुर्बानी के इस दिन गरीबों को दान दें और जरूरतमंदों की मदद करें। मस्जिदों में शारीरिक दूरी का विशेष ख्याल रखें। जो लोग बीमार हैं, वह घर पर नमाज अदा करें। साफ सफाई का विशेष ख्याल रखें। ईदगाह में सुबह आठ बजे सीमित लोग नमाज अदा करेंगे।

बाजार में खरीदारी को उमड़ी भीड़

बकरीद को लेकर शहर के पल्टन बाजार बाजार, तिब्बती मार्केट और इंदिरा मार्केट, शापिंग माल में खरीदारी को लोग की भीड़ उमड़ी। अधिकांश लोग कपड़े, खाद्यान्न और मिठाई की खरीदारी करते नजर आए।

तीन दिन तक कर सकते हैं कुर्बानी

बकरीद की नमाज आज होगी, जबकि कुर्बानी तीन दिन तक कर सकते हैं। उत्तराखंड मदरसा एसोसिएशन के सचिव मोहम्मद शाहनजर के अनुसार, इस दिन की नमाज विशेष होती है। घर, मस्जिद अथवा जहां भी हों नमाज अदा करें। यदि किसी कारणवश पहले दिन कुर्बानी नहीं कर सकें तो दूसरे व तीसरे दिन भी कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:-Eid al Adha 2021: कुर्बानी का पर्व ईद-उल-अजहा कल, इस बार सीमित लोगों को दिया जाएगा मस्जिदों में प्रवेश

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.