Dengue Cases Update: दून में गहराता जा रहा डेंगू का डंक, क्लेमेनटाउन और सेलाकुई में मिले मरीज

Dehradun Dengue Cases Update दून में डेंगू के दो नए मामले मिले। अब क्लेमेनटाउन निवासी 18 वर्षीय युवक और सेलाकुई निवासी 45 वर्षीय महिला में डेंगू की पुष्टि हुई है। दोनों मरीज श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी स्थिति सामान्य है।

Raksha PanthriFri, 17 Sep 2021 03:23 PM (IST)
दून में गहराता जा रहा डेंगू का डंक, क्लेमेनटाउन और सेलाकुई में मिले मरीज।

जागरण संवाददाता, देहरादून। Dehradun Dengue Cases Update दून और आसपास के इलाकों में डेंगू का डंक गहराता जा रहा है। गुरुवार को जनपद में डेंगू के दो नए मामले मिले। अब क्लेमेनटाउन निवासी 18 वर्षीय युवक और सेलाकुई निवासी 45 वर्षीय महिला में डेंगू की पुष्टि हुई है। दोनों मरीज श्रीमहंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती हैं और उनकी स्थिति सामान्य है। जनपद में अब तक डेंगू के 17 मामले सामने आ चुके हैं।

कोरोना के बीच डेंगू के बढ़ते मामलों से स्वास्थ्य महकमा भी चिंतित है। हालांकि, विभागीय अधिकारियों का दावा है कि जिन इलाकों से डेंगू के मामले मिल रहे हैं, वहां व्यापक स्तर पर फागिंग कर दवा का छिड़काव किया जा रहा है। सर्वे टीम घर-घर जाकर जन सामान्य को जागरूक करने के साथ ही क्षेत्र में डेंगू की बीमारी पनपाने वाले मच्छर का लार्वा नष्ट कर रही है। क्लेमेनटाउन और सेलाकुई के जिन इलाकों में डेंगू के मरीज मिले हैं, वहां भी वृहद स्तर पर फागिंग की गई है। आसपास के नागरिकों को जागरूक किया गया है।

ऋषिकेश में एक युवक में मिले डेंगू के लक्षण

सपीएस राजकीय चिकित्सालय में एक युवक में रैपिड जांच में डेंगू की पुष्टि हुई है। उसकी एलाइजा जांच की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। इसके बाद जिला स्वास्थ्य विभाग ने नगर निगम और राजकीय चिकित्सालय प्रशासन को क्षेत्र में व्यापक डेंगू विरोधी अभियान तेज करने के निर्देश दिए हैं। जिसके तहत सघन लार्वा सर्वे शुरू किया जाएगा।

चिकित्सालय के वरिष्ठ फिजीशियन डा. सुरेश कोठियाल ने बताया मालवीय मार्ग ऋषिकेश निवासी एक 24 वर्षीय युवक बीते बुधवार को राजकीय चिकित्सालय की ओपीडी में आया था। इस युवक को तेज बुखार और सिर दर्द की शिकायत थी। युवक की डेंगू रैपिड जांच कराई गई। जिसमें डेंगू के लक्षण की पुष्टि हुई है। उन्होंने बताया कि युवक की एलाइजा जांच की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। डेंगू वार्ड में इस युवक का उपचार चल रहा है, उसकी हालत स्थिर है। डा. कोठियाल ने बताया कि चिकित्सालय में महिला वार्ड में छह और पुरुष वार्ड में सात बैड डेंगू मरीजों के लिए आरक्षित किए गए हैं। इस वार्ड में डेंगू की रोकथाम से संबंधित सभी आवश्यक कदम उठाए गए हैं।

सघन लार्वा सर्वे तेज किया जाएगा

एसपीएस राजकीय चिकित्सालय में एक युवक में डेंगू के संभावित लक्षण मिलने की पुष्टि करते हुए जिला मलेरिया अधिकारी सुभाष जोशी ने बताया कि चिकित्सालय प्रशासन ने इस बात की जानकारी दी है। इसके बाद वह स्वयं ऋषिकेश आए उन्होंने इस मामले में नगर निगम प्रशासन से वार्ता की। शुक्रवार से नगर निगम और राजकीय चिकित्सालय प्रशासन की टीम समूचे क्षेत्र में सघन लार्वा सर्वे का कार्य तेज कर देगी।

यह भी पढ़ें- Vaccination Campaign: उत्तराखंड में शुक्रवार से चलाया जाएगा टीकाकरण का महाभियान, जानिए कितना है लक्ष्‍य

उन्होंने बताया कि आशाएं घर घर जाकर इस बात की जानकारी प्राप्त करेगी। नगर निगम की ओर से फागिंग और कीटनाशक दवाओं का छिड़काव भी तेज किया जा रहा है। जिला मलेरिया अधिकारी ने बताया कि एसपीएस राजकीय चिकित्सालय को जिला प्रशासन की ओर से 500 एलाइजा जांच और 500 रैपिड जांच की सुविधा पूर्व में ही उपलब्ध करा दी गई थी।

यह भी पढ़ें- उत्‍तराखंड में एक माह में सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में शुरू होगी मुफ्त जांच

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.