Dehradun Crime: चार लाख की सिगरेट पर किया था हाथ साफ, मुराबाद से पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपित

Dehradun Crime News देहरादून में दुकान का शटर तोड़कर करीब चार लाख रुपये की सिगरेट के पैकेट चोरी में पुलिस ने तीन आरोपितों को मुरादाबाद से गिरफ्तार किया। आरोपितों से चोरी का माल भी बरामद कर लिया गया है।

Raksha PanthriSat, 25 Sep 2021 07:05 AM (IST)
चार लाख की सिगरेट पर किया था हाथ साफ।

जागरण संवाददाता, देहरादून। Dehradun Crime News राजधानी देहरादून में दुकान का शटर तोड़कर करीब चार लाख रुपये की सिगरेट के पैकेट चोरी में पुलिस ने तीन आरोपितों को मुरादाबाद से गिरफ्तार किया। आरोपितों से चोरी का माल भी बरामद कर लिया गया है।

एसपी सिटी सरिता डोबाल ने पत्रकारवार्ता में बताया कि 16 सितंबर को तड़के देहरादून के कारगी चौक पर स्थित हरि थापा की दुकान के ताले तोड़कर करीब चार लाख रुपये की सिगरेट के 2300 पैकेट चोरी कर लिए गए थे। पीडि़त की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दुकान व आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई। जिसमें चोरी को अंजाम देने में दो व्यक्तियों का शामिल होना सामने आया। साथ ही चोरी में प्रयुक्त कार भी दिखाई दी। करीब 78 सीसीटीवी कैमरे खंगालने के बाद पता चला कि आरोपित कार से जोगीवाला, डोईवाला, हरिद्वार, नजीबाबाद, धामपुर होते हुए मुरादाबाद की ओर गए हैं। मुखबिर की सूचना पर 23 सितंबर की रात को दोनों व्यक्तियों को कब्रिस्तान के पास मुरादाबाद से गिरफ्तार कर लिया गया। जिनकी पहचान मुगलपुरा मुरादाबाद निवासी माोहम्मद हाशिम, भोजपुर मुरादाबाद निवासी मोहम्मद एहसान व नागफनी मुरादाबाद निवासी रईस अहमद के रूप में हुई।

पहले भी दे चुके हैं कई चोरियों को अंजाम

एसपी सिटी सरिता डोबाल ने बताया कि आरोपित मुरादाबाद में भी कई चोरियों को अंजाम दे चुके हैं। इसके अलावा पूर्व में एक मामले में आरोपितों की चोरी के बाद पुलिस से मुठभेड़ भी हुई थी।

पार्षद सहित आठ के खिलाफ अभियोग लिया वापस

राज्य सरकार ने पार्षद समेत आठ लोगों के खिलाफ पंजीकृत अभियोग वापस ले लिया है। गन्ना एवं चीनी विकास बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष भगतराम कोठारी बीते दो वर्ष से अभियोग वापस लेने की सरकार से गुहार लगा रहे थे। तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत उनकी ओर से पत्र दिया गया था।दो वर्ष पूर्व रायवाला में एक सांप्रदायिक विवाद के बाद बाजार बंद कराने को लेकर ऋषिकेश नगर निगम के पार्षद शिव कुमार गौतम,राकेश पाल, सतीश सिंह, गोपाल चंदेल, सुनील कुमार, संदीप शर्मा, जगदीश जाटव समेत आठ लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसके बाद से पूर्व गन्ना और चीनी विकास बोर्ड अध्यक्ष अभियोग पंजीकृत किये जाने के बाद से सरकार पर दबाव बना रहे थे।

उन्होंने सरकार को तर्क दिया यह लोग किसी भी विवादित मामले में शामिल नहीं थे। इसलिये पंजीकृत अभियोग वापस लिया जाना जरूरी है। पूर्व दायित्व धारी भगतराम कोठारी ने बताया कि वह लंबे समय से मुकदमे वापस लेने की सरकार से गुहार लगा रहे थे। जिस पर सरकार ने उनके आग्रह पर संज्ञान लिया। अपर सचिव शासन अतर सिंह की ओर से इस मामले में जिला मजिस्ट्रेट देहरादून को पत्र जारी कर दिया गया था। यह सभी भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता है।

यह भी पढ़ें- शादी का प्रस्ताव रखकर की 17 लाख की ठगी, एसटीएफ ने महिला और उसके साथी को पुणे से किया गिरफ्तार

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.