मुख्य सचिव बोले, उत्तराखंड में कोरोना के मामले बढ़ेंगे पर विचलित न हों, तैयारी है पूरी

मुख्य सचिव बोले, उत्तराखंड में कोरोना के मामले बढ़ेंगे पर विचलित न हों, तैयारी है पूरी
Publish Date:Sun, 24 May 2020 07:53 PM (IST) Author:

देहरादून, राज्य ब्यूरो। प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने सभी से संयम बरतने और विचलित न होने की अपील की। उन्होंने कहा कि अभी मामले बढ़ेंगे, लेकिन इससे निपटने को सरकार द्वारा पूरी तैयारी की गई है। आमजन अनावश्यक रूप से बाहर न निकलें। बाहर आने पर मास्क पहनने के साथ ही सुरक्षित शारीरिक दूरी के मानक का अनुपालन सुनिश्चित करें। 

क्वारंटाइन किए गए लोगों पर नजर रखने के लिए त्रिस्तरीय व्यवस्था बनाई गई है। इसके तहत ग्राम प्रधान, शिक्षकों और आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से इन पर नजर रखी जा रही है। क्वारंटाइन के नियमों का पालन न करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्रत्येक जिलों में रिस्पास टीमों का गठन किया गया है, जो लगातार फील्ड में जाकर क्वारंटाइन किए गए लोगों पर नजर रख रही है। जब अगले 15 दिन में क्वारंटाइन की अवधि पूरी हो जाएगी तो यह संख्या काफी हद तक नियंत्रित हो सकेगी। 

प्रदेश में कोरोना के मामलों में एकाएक उछाल आने से सरकार के साथ ही आमजन की पेशानी पर बल पड़े हुए हैं। इससे प्रदेश सरकार और स्वास्थ्य समेत सभी विभागों की तैयारियों की असली परीक्षा भी शुरू हो गई है। संक्रमण को रोकने के लिए अब शासन जनता से भी सहयोग की अपेक्षा कर रहा है। रविवार को सचिवालय मे पत्रकारों से बातचीत में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने कहा कि पूरे देश के साथ ही उत्तराखंड में भी कोरोना संक्रमण के मामले मिल रहे हैं। इसके लिए शासन-प्रशासन पूरी तरह तैयार है। 

राज्य के चिकित्सालयों में बेड, ऑक्सीजन, वेंटीलेटर और आइसीयू आदि पर्याप्त संख्या में हैं। चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी अच्छा काम कर रहे हैं। मृत्यु दर कम है। प्रदेश में 298 केस आए हैं, जिनमें से 56 ठीक हो चुके हैं। मुख्य सचिव ने कहा कि क्वारंटाइन किए गए लोगों पर पूरी नजर रखी जा रही है। इनसे फोन पर भी बात की जा रही है। जो फोन नहीं उठाएगा तो उसकी जानकारी ली जाएगी और जानबूझकर ऐसा न करने पर कड़ी कार्रवाई भी की जाएगी। क्वारंटाइन करने वाले नियमों का पालन करते हुए खुद भी सुरक्षित रहें और समाज को भी सुरक्षित रखें।

यह भी पढ़ें: सीएम रावत बोले, क्वारंटाइन के उल्लंघन पर हो सख्त कार्रवाई; ग्राम प्रधानों को मिले हर संभव मदद

उन्होंने कहा कि आमजन को घबराने नहीं बल्कि बस कुछ आवश्यक सावधानी बरतने की जरूरत है। प्रदेश में संक्रमण की दर कम-ज्यादा हो रही है। पहले भी हम इस स्थिति को देख चुके हैं। प्रवासियों के आने के बाद संक्रमण की दर में तेजी आई है, लेकिन सरकार की सभी तरह की पूरी तैयारी है। सभी लोग संक्रमण के प्रभाव को रोकने के लिए नियमों का अनुपालन करें।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में कोरोना ने खड़ा किया चुनौतियों का पहाड़, बीते हफ्ते छह गुना रफ्तार से बढ़े मामले

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.