राशन कार्ड बनाने को त्यूणी के शिविर में जुटी ग्रामीणों की भीड़, पांच सौ से ज्यादा आवेदन हुए जमा

खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग और ब्लॉक अधिकारियों की ओर से ग्रामीण जनता की सुविधा को सीमांत त्यूणी तहसील में राशन कार्ड बनाने को शिविर का आयोजन किया गया। इसमें करीब पांच सौ से अधिक आवेदन राशन कार्ड बनाने को शिविर में जमा हुए।

Raksha PanthriWed, 16 Jun 2021 05:02 PM (IST)
राशन कार्ड बनाने को त्यूणी के शिविर में जुटी ग्रामीणों की भीड़।

संवाद सूत्र, चकराता (देहरादून)। खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग और ब्लॉक अधिकारियों की ओर से ग्रामीण जनता की सुविधा को सीमांत त्यूणी तहसील में राशन कार्ड बनाने को शिविर का आयोजन किया गया। इसमें करीब पांच सौ से अधिक आवेदन राशन कार्ड बनाने को शिविर में जमा हुए।

कुछ दिन पूर्व जौनसार बावर के भ्रमण पर आए सूबे के काबीना मंत्री बंशीधर भगत के सामने स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने क्षेत्र के कई ग्रामीण परिवारों के राशन कार्ड नहीं बनने की शिकायत की थी। इसके अलावा कई ग्रामीण उपभोक्ता ऐसे भी हैं जिनके राशन कार्ड बनने के बाद ऑनलाइन व्यवस्था से नहीं जुड़े। इससे क्षेत्र के सैकड़ों ग्रामीण उपभोक्ताओं को सरकार की खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा। मामला संज्ञान में आने से काबीना मंत्री बंशीधर भगत ने जिला पूर्ति अधिकारी को 15 व 16 जून को सीमांत त्यूणी तहसील में और 17 और 18 जून को चकराता ब्लॉक कार्यालय में राशन कार्ड बनाने को शिविर लगाने के निर्देश दिए थे।

सरकार के निर्देशन में जिला पूर्ति अधिकारी जेएस कंडारी ने मंगलवार को सहायक खाद्य निरीक्षक जितेंद्र जोशी के नेतृत्व में राशन कार्ड बनाने को त्यूणी में शिविर का आयोजन किया। लोनिवि विश्राम गृह के परिसर में लगे शिविर में स्थानीय ग्रामीणों की भारी भीड़ जुटी। इस दौरान दूर-दराज से आए ग्रामीणों ने राशन कार्ड बनाने को पहले दिन करीब पांच सौ आवेदन प्रस्तुत किए। सहायक खाद्य निरीक्षक जितेंद्र जोशी ने कहा कि शिविर में प्राप्त आवेदनों का परीक्षण करने के बाद नए और पूर्व में बने राशन कार्डों को ऑनलाइन व्यवस्था से जोड़ने की प्रक्रिया चल रही है। इसमें ब्लॉक अधिकारियों का भी सहयोग लिया जा रहा है।

शिविर में राशन कार्ड बनाने को जुटी सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ के चलते कई लोग बिना मास्क के नजर आए। जिला पूर्ति अधिकारी जेएस कंडारी ने कहा बुधवार को त्यूणी में राशन कार्ड शिविर संपन्न होने के पश्चात 17 व 18 जून को चकराता ब्लॉक में अलग से शिविर का आयोजन किया जाएगा, जिससे क्षेत्र के वंचित ग्रामीणों के राशन कार्ड बनाने के साथ पुराने राशन कार्ड में संशोधन और सुधारीकरण की समस्या को दूर किया जाएगा। डीएसओ ने कहा स्थानीय ग्रामीणों को शिविर का लाभ उठाना चाहिए।

यह भी पढ़ें- कोविड मरीजों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा में मददगार साबित होगी लाईफाई टेक्नोलॉजी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.