top menutop menutop menu

15 जुलाई से चौरासी कुटी के पर्यटक कर सकेंगे दीदार, खोलने की हो रही तैयारी

ऋषिकेश, जेएनएन। महर्षि महेश योगी की विरासत और मशहूर बीटल्स बैंड की यादों से जुड़ी चौरासी कुटी को 15 जुलाई से पुन: पर्यटकों के लिए खोला जा रहा है। राजाजी टाइगर रिजर्व ने इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी है। राजाजी टाइगर रिवर्ज की गौहरी रेंज में स्थित चौरासी कुटी को कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन शुरू होने पर पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया था।

चौरासी कुटी (शंकराचार्य नगर) की स्थापना भावातीत ध्यान योग के प्रणेता महर्षि महेश योगी ने साठ के दशक में की थी। उन्होंने यहां योग, ध्यान व साधना के लिए 84 गुंबदनुमा कुटियों का निर्माण कराया था। जिस वजह से यह जगह चौरासी कुटी के नाम से विख्यात हुई। 

सत्तर के दशक में यहां पहुंचे पश्चिम के मशहूर बीटल्स बैंड के चार सदस्यों ने यहां रहते हुए योग, ध्यान के अलावा कई मशहूर धुनें रची थी। जिसके बाद चौरासी कुटी ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना दी। वर्ष 1983 में राजाजी पार्क बनने के बाद यह विरासत पार्क में शामिल हो गई। 

महर्षि महेश योगी ने इस अत्याधुनिक नगर को वन विभाग को सौंप दिया और नब्बे के दशक में यहां सभी तरह की गतिविधियां बंद हो गई। हालांकि महर्षि महेश योगी के अनुयायियों और बीटल्स बैंड के चाहने वालों के लिए यह विरासत इसके बाद भी दर्शनीय बनी रही। आलम यह रहा कि पार्क क्षेत्र में प्रतिबंधित होने के बावजूद भी देश-विदेश के पर्यटकों का आकर्षण इसके प्रति बना रहा। 

आखिरकार दिसंबर वर्ष 2015 में राजाजी पार्क प्रशासन ने चौरासी कुटी को एक धरोहर के तौर पर पर्यटकों के लिए खोल दिया था। जिसके बाद यह धरोहर राजाजी पार्क के लिए आमदनी का बड़ा स्त्रोत भी बन गया। 

वर्ष-------भारतीय पर्यटक--------विदेशी----आय (लाख रुपये में) 

2019------35291----------------5388-------------78.45 

2018-----23852----------------3939-------------50.51 

2017----13888------------------818-------------20.33 

2016-----8262------------------1173-------------18.08 

2015-------448------------------181---------------2.50 

यह भी पढ़ें: सैलानियों के आकर्षण को देखते हुए चौरासी कुटी का होगा सौंदर्यकरण

गाइडलाइन का होगा पालन  

राजाजी टाइगर रिजर्व की गौहरी रेंज के अधिकारी धीर सिंह के मुताबिक, 15 जुलाई से चौरासी कुटी को खोलने की तैयारी है। इसके लिए यहां साफ सफाई और अन्य व्यवस्थाएं जुटाई जा रही हैं। वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत को आमंत्रित किया गया है। अनलॉक-2 के तहत जारी गाइडलाइन का इस दौरान पूरा पालन किया जाएगा। 

यह भी पढ़ें: हरिद्वार कुंभ में परेशानी का सबब नहीं बनेंगे वन्यजीव, पढ़िए पूरी खबर

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.