दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

CM ने ऋषिकेश में बन रहे कोविड अस्पताल का किया निरीक्षण, कहा- कोरोना से निपटने को प्रदेश और केंद्र सरकार तत्पर

CM ने ऋषिकेश में बन रहे कोविड अस्पताल का किया निरीक्षण।

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) की ओर से आइडीपीएल में तैयार किए जा रहे 500 बेड के कोविड अस्पताल का मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की स्थिति चुनौतीपूर्ण बनती जा रही है।

Raksha PanthriFri, 07 May 2021 03:46 PM (IST)

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण और नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए राज्य और केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। प्रदेश में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) की ओर से पांच-पांच सौ बेड के दो आधुनिक सुविधाओं से लैस कोविड हॉस्पिटल तैयार किए जा रहे हैं, जो आने वाली चुनौती के लिए मददगार साबित होंगे। 

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार को ऋषिकेश के आइडीपीएल में डीआरडीओ द्वारा तैयार किए जा रहे 500 बेड के कोविड अस्पताल का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने अस्पताल की प्रगति को लेकर डीआरडीओ के अधिकारियों से चर्चा करते हुए इस प्रोजेक्ट को समय युद्धस्तर पर तैयार करने की अपील की। डीआरडीओ के प्रोजेक्ट मैनेजर लेफ्टिनेंट कर्नल रमन त्यागी ने बताया कि डीआरडीओ की ओर से उत्तराखंड में ऋषिकेश और हल्द्वानी में 500-500 बेड के कोविड अस्पताल तैयार किए जा रहे हैं। 

ऋषिकेश के आअडीपीएल में निर्माणाधीन कोविड अस्पताल में 120 आइसीयू बेड तैयार किए जा रहे हैं। प्रोजेक्ट इंचार्ज सूबेदार मेजर सुभाष ने बताया कि कोविड अस्पताल का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है, जिसे 17 मई तक हर हाल में पूरा कर लिया जाएगा। मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण की स्थिति चुनौतीपूर्ण बनती जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए हर जरूरी कदम सरकार उठा रही है। केंद्र सरकार की ओर से राज्य को पूरा सहयोग मिल रहा है। 

उन्होंने बताया कि उनकी एक अपील पर ही प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री ने उत्तराखंड में डीआरडीओ के माध्यम से दो कोविड अस्पताल को मंजूरी दी है, जो जल्द तैयार हो जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में जल्द ही 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के व्यक्तियों को कोविड वैक्सीनेशन की सुविधा निश्शुल्क प्रदान की जाएगी। जल्द ही मीडिया कर्मियों को भी फ्रंटलाइन वर्कर के तौर पर निशुल्क कोविड वैक्सीनशन कराया जाएगा। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, महापौर अनीता मंगाई, जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी वरुण चौधरी, तहसीलदार डॉ. अमृता शर्मा, मुख्य नगर आयुक्त नरेंद्र सिंह क्वीरियाल आदि मौजूद थे।

एम्स में स्थापित हो 40 हजार लीटर क्षमता का ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश पहुंचे और अस्पताल में संचालित की जा रही कोविड केयर व्यवस्थाओं समेत विभिन्न बिंदुओं पर एम्स प्रशासन से विस्तृत पर चर्चा की। ठक में मुख्यमंत्री ने एम्स में कोविड केयर मैनेजमेंट पर चर्चा की और मरीजों को दिए जा रहे उपचार आदि बिंदुओं के बाबत जानकारी हासिल की।

एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने मुख्यमंत्री को बताया कि आइडीपीएल में डीआरडीओ की ओर से तैयार किए जा रहे 500 बेड के कोविड केयर सेंटर का संचालन एम्स संस्थान करेगा।सेंटर में चिकित्सक, नर्सिंग स्टाफ आदि की व्यवस्थाएं की जाएंगी। उन्होंने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से एम्स में ऑक्सीजन स्टोरेज के लिए 40,000 लीटर क्षमता का अतिरिक्त ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक लगाने का अनुरोध किया। अवगत कराया कि एम्स में वर्तमान में 30,000 लीटर क्षमता का ऑक्सीजन टैंक स्थापित है, मगर अस्पताल में ऑक्सीजन पर आधारित बेड, वेंटिलेटर व आइसीयू की अत्यधिक संख्या को देखते हुए मौजूदा 30,000 लीटर के टैंक के अलावा ऑक्सीजन सिलेंडरों पर निर्भर रहना पड़ता है। 

लिहाजा, संस्थान में अतिरिक्त ऑक्सीजन टैंक लगने से कोविड काल में ऑक्सीजन की सतत आपूर्ति कोई कठिनाई नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने एम्स प्रशासन को भरोसा दिलाया कि इस बाबत जल्द ठोस निर्णय लिया जाएगा। बैठक में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल, ऋषिकेश मेयर अनीता ममगाईं, ओएसडी जगमोहन सुंद्रियाल, डीन एकेडमिक प्रो. मनोज गुप्ता, मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रो. बीके बस्तिया, प्रो. डीके त्रिपाठी, डॉ. पीके पंडा, डॉ. मधुर उनियाल, विधि अधिकारी प्रदीप चंद्र पांडेय, जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें- Dehradun Coronavirus Cases Update: देहरादून में 32 फीसद के करीब पहुंची संक्रमण दर

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.