Coronavirus Vaccination in Uttarakhand: मुख्यमुंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बोले, वैक्सीन पर भ्रम फैलाने वाले बचेंगे नहीं

कोविड-19 टीकाकरण अभियान के शुभारंभ पर राजकीय दून मेडिकल अस्पताल में मौजूद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत।

मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों नर्सों व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों ने विषम परिस्थितियों में कार्य करते हुए कोरोना महामारी को काफी हद तक नियंत्रित किया है। अपनी जान की परवाह किए बगैर जन सेवा की है।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 08:37 PM (IST) Author: Sunil Negi

जागरण संवाददाता, देहरादून। Coronavirus Vaccination in Uttarakhand  मुख्यमंत्री ने चिकित्सकों, नर्सों व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों ने विषम परिस्थितियों में कार्य करते हुए कोरोना महामारी को काफी हद तक नियंत्रित किया है। अपनी जान की परवाह किए बगैर जन सेवा की है। कई चिकित्सकों ने रोजा व व्रत रखने जैसी स्थिति में काम किया है। पीपीई किट, डाइपर पहनकर आठ-आठ घंटे काम किया। महामारी में देश बचा है तो इन वॉरियर्स की वजह से बचा है।

दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में टीकाकरण अभियान के शुभारंभ के मौके पर मुख्यमुंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने महामारी के कारण अपनी जान गंवाने वाले चिकित्सकों और स्वास्थ कर्मियों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने आम जन से अपील की है कि टीकाकरण को लेकर भ्रामक प्रचार और अफवाह फैलाने वालों से बचें। ऐसी किसी भी बात पर ध्यान न दें, किसी सही स्रोत से न आएं। उन्होंने कहा कि अफवाह फैलाने वाले यह न समझें कि वे बच जाएंगे। उन्हें चिह्नित कर कार्रवाई की जाएगी। सीएम ने कहा कि कोविड से बचाव के लिए टीकाकरण के बाद भी पूरी सतर्कता बरती जाए। क्योंकि 28वें दिन में दूसरा टीका लगने के बाद अगले दो सप्ताह बाद ही शरीर में एंटी बॉडी विकसित होने लगती हैं। तब तक बहुत सतर्क रहने की आवश्यकता है।

दून अस्पताल को सराहा 

मुख्यमंत्री ने कोरोनाकाल में दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल की ओर से की गई सराहनीय सेवा की प्रशंसा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमितों के मृत्यु दर को कम रखने के लिए अस्पताल प्रशासन ने बेहतर काम किया और अस्पताल के चिकित्सकों से लेकर अन्य सभी कर्मियों की सेवाओं को कभी भुलाया नहीं जा सकता। 

यह भी पढ़ें - Coronavirus Vaccination in Uttarakhand: कोरोना के अंत के लिए निर्णायक जंग की शुरुआत, पहले दिन 2226 स्वास्थ्य कर्मियों का हुआ टीकाकरण

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.