रेलवे के खिलाफ फूटा नागरिकों का गुस्सा

रेलवे के खिलाफ फूटा नागरिकों का गुस्सा
Publish Date:Mon, 26 Oct 2020 06:48 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश :

रेलवे स्टेशन के समीप रविवार रात दुर्घटना में युवक की मौत के बाद सोमवार को रेलवे के खिलाफ नागरिकों का गुस्सा फूट पड़ा। नागरिकों ने सड़क के बीचों-बीच स्थित ट्रांसफार्मर को बिना शिफ्ट किए ही मार्ग पर यातायात खोलने पर नाराजगी जताते हुए दुर्घटना के लिए रेलवे को जिम्मेदार ठहराया। गुस्साए नागरिकों ने मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। बाद में रेलवे के अधिकारियों के आश्वासन पर नागरिकों ने जाम खोला।

पुराने रेलवे स्टेशन पर विस्तारीकरण का काम जारी है, जिसके लिए रेलवे ने यहां स्टेशन के पास से गुजरने वाले मार्ग को कुछ आगे शिफ्ट कर दिया है। मार्ग का निर्माण कर यहां ट्रैफिक भी खोल दिया गया है, जबकि पुराने मार्ग पर रेलवे ने खुदाई का काम शुरू कर दिया। आधी-अधूरी बनी इस सड़क के बीचों-बीच एक ट्रांसफार्म भी है, जिसे अभी तक शिफ्ट नहीं किया गया है। मार्ग पर कोई स्ट्रीट लाइट भी नहीं है, जिससे रात के अंधेरे में यह ट्रांसफार्मर नजर ही नहीं आता। रविवार रात को भी इसी ट्रांसफार्मर के पोल से टकराकर बाइक सवार युवक की मौत हुई।

रेलवे के इस अधूरे काम को युवक की मौत का जिम्मेदार बताते हुए सोमवार को स्थानीय नागरिक वार्ता के लिए रेलवे स्टेशन पहुंचे। मगर, यहां कोई जिम्मेदार अधिकारी मौजूद ही नहीं था। जिससे नागरिकों का गुस्सा और भी भड़क गया और उन्होंने स्टेशन के नजदीक मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आश्वासन दिया। मगर, नागरिक मृतक के परिवार को बीस हजार रुपये आर्थिक मदद देने व मृतक की पत्नी को रेलवे में नौकरी देने की मांग पर अड़े रहे। बाद में मौके पर पहुंचे रेलवे के अधिकारियों ने एक सप्ताह के अंदर उनकी मांगों पर उच्चाधिकारियों की सहमति बनाने का आश्वासन दिया। करीब दो घंटे बाद नागरिकों ने जाम खोल दिया। नागरिकों ने नए मार्ग से तत्काल ट्रांसफार्मर को शिफ्ट कर मार्ग को दुरुस्त करने की भी मांग की।

इस दौरान स्थानीय पार्षद लता तिवारी, राजेंद्र प्रेम सिंह बिष्ट, राकेश मियां, भगवान सिंह पवार, जगत सिंह नेगी, मनीष शर्मा, पूर्व सभासद हरीश तिवारी, भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष ज्योति सजवाण, सतीश पाल, विनोद पाल, महेंद्र सिंह, ईश्वर चंद, रतन सिंह, मदन शर्मा आदि मौजूद रहे।

स्टेशन परिसर में विस्तारीकरण का काम रुकवाया

रेलवे स्टेशन परिसर में विस्तारीकरण का काम चल रहा है। सोमवार को जब नागरिक रेलवे के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे और यहां मुख्य मार्ग पर जाम लगा रहे थे, तब भी कुछ कर्मचारी यहां टाइल्स लगाने के काम में जुटे थे। जिससे प्रदर्शनकारी नाराज हो गए। उन्होंने श्रमिकों के औजार छीनकर उन्हें मौके से खदेड़ दिया। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि जब तक कार्यदायी संस्था सड़क को दुरस्त नहीं कर देती तब तक यहां विस्तारीकरण का काम नहीं होने दिया जाएगा। स्टेशन अधीक्षक एसके शर्मा ने बताया कि इस मार्ग से ट्रांसफार्मर हटाने और मार्ग को दुरस्त करने का काम जल्द पूरा किया जाएगा। इसके अलावा मृतक के स्वजनों की मांग को लेकर उच्चाधिकारियों से वार्ता की जा रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.