ऋषिकेश में चारधाम यात्रा व्यवस्था भगवान भरोसे

जागरण संवाददाता ऋषिकेश उच्च न्यायालय की अनुमति के बाद प्रदेश सरकार ने चारधाम सहित श्री ह

JagranFri, 24 Sep 2021 03:30 AM (IST)
ऋषिकेश में चारधाम यात्रा व्यवस्था भगवान भरोसे

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: उच्च न्यायालय की अनुमति के बाद प्रदेश सरकार ने चारधाम सहित श्री हेमकुंड साहिब धाम की यात्रा शुरू करने का निर्णय लिया था। पांच दिन यात्रा को शुरू हुए हो गए हैं लेकिन प्रशासन और जिम्मेदार विभाग व्यवस्था बनाने में नकारा साबित हुए हैं। विभिन्न प्रांतों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां आ रहे हैं लेकिन अव्यवस्था के चलते बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां से वापस लौट रहे हैं। परिवहन विभाग को छोड़ दिया जाए तो अन्य जिम्मेदार विभाग कहीं नजर नहीं आ रहे हैं।

चारधाम यात्रा को लेकर मुख्यमंत्री ने सभी विभागों को अतिथि देवो भव की भावना के साथ तमाम व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए थे। एकमात्र परिवहन विभाग ऐसा है जिसने पहले ही दिन से गंगोत्री और बदरीनाथ हाईवे पर अस्थायी चेक पोस्ट स्थापित करने के साथ कार्मिकों की तैनाती कर दी थी। सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय में ग्रीन कार्ड बनाने के लिए अलग से व्यवस्था बनाई गई। चारधाम यात्रा से महत्वपूर्ण विभाग के रूप में नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग, ऊर्जा निगम, परिवहन निगम,तहसील प्रशासन, यात्रा प्रशासन संगठन, पर्यटन विभाग, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, खाद्य सुरक्षा विभाग, जल संस्थान शामिल है। वर्तमान में यहां सभी विभाग धरातल से गायब है।

बड़ी संख्या में अन्य प्रांतों से श्रद्धालु यहां पहुंच रहे हैं मगर उनका मार्गदर्शन करने वाला यहां कोई नहीं है। देवस्थानम बोर्ड की साइट से आनलाइन ई-पास बनाने की व्यवस्था की गई है। सबसे बड़ी समस्या उन श्रद्धालुओं के साथ है जो ग्रामीण परिवेश से आते हैं, जिनके पास में स्मार्टफोन नहीं है और जिनके पास स्मार्टफोन है भी तो उनके मोबाइल पर हमेशा ई-पास बनाने का स्लाट बुक दिखा रहा है।दो दिन पूर्व उप जिलाधिकारी अपूर्वा पांडेय ने सभी विभागों की बैठक लेकर 24 घंटे के भीतर तमाम व्यवस्थाएं चाक-चौबंद करने के निर्देश दिए थे। इन पर भी अब तक अमल नहीं हुआ है। कुल मिलाकर चारधाम यात्रा के प्रवेश द्वार ऋषिकेश में यात्रा व्यवस्था भगवान भरोसे है।

-------------------

नहीं खुली हेल्प डेस्क

यात्रा से संबंधित सभी जिम्मेदार विभागों के अधिकारियों को एक छत के नीचे लाने के लिए शासन की ओर से ऋषिकेश बस टर्मिनल कंपाउंड में हेल्प डेस्क स्थापित की गई थी। दो वर्ष पूर्व जब यात्रा चली थी तो इस डेस्क से श्रद्धालुओं को लाभ मिला। इस बार अब तक हेल्प डेस्क नहीं बनाई गई है। निर्धारित भवन के हाल में पिछली बार की मेज कुर्सी उसी तरह सजे हुए हैं। इंतजार है तो विभागीय अधिकारियों और जिम्मेदार कर्मचारियों का। यह स्थिति तब है जब हेल्प डेस्क भवन के ठीक बगल में चारधाम यात्रा प्रशासन संगठन और पर्यटन विभाग का कार्यालय स्थित है। अनु सचिव यात्रा प्रशासन संगठन एके श्रीवास्तव के मुताबिक आयुक्त के निर्देश पर सभी विभागों को पत्र जारी कर दिया गया है। जल्दी ही यहां हेल्प डेस्क वजूद में आ जाएगी।

--------------------

सीएम हेल्पलाइन में भी सुनवाई नहीं

चारधाम यात्रा बस टर्मिनल कंपाउंड में गुरुवार को मध्यप्रदेश और राजस्थान के यात्री पहुंचे। उन्होंने हेल्पडेस्क कक्ष में पहुंचकर मदद चाही मगर कमरा खाली था। मौके पर मौजूद कुछ स्थानीय परिवहन विभाग कर्मियों ने इन यात्रियों को सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज कराने को कहा। नागरिकों की ओर से इन यात्रियों को हेल्पलाइन का नंबर भी उपलब्ध कराया गया। जब यात्रियों ने अपनी शिकायत दर्ज करानी चाही तो दूसरी ओर से बोल रही महिला का कहना था कि इस तरह की बहुत ही शिकायत यहां दर्ज हो रखी है। संबंधित अधिकारी से वार्ता कर एक घंटे बाद आपको जवाब दे दिया जाएगा मगर जवाब नहीं आया।

--------------------

चार धाम यात्रा में श्रद्धालुओं की सुविधाओं के लिए व्यवस्थाएं बनाने के निर्देश सभी विभागों को पूर्व में ही जारी कर दिए गए थे। दोबारा फिर से सभी प्रमुख विभागों के जिम्मेदार अधिकारियों को पत्र लिखा गया है। इस संबंध में ऋषिकेश तहसील प्रशासन को भी व्यवस्था बनाने के लिए कहा गया है।

- डीसी पठौई, नोडल अधिकारी, यात्रा एवं संभागीय परिवहन अधिकारी देहरादून

------------------------

110 यात्री गए दो धाम,72 ग्रीन कार्ड बने

ऋषिकेश: परिवहन विभाग के मुताबिक गुरुवार को ऋषिकेश से 110 यात्रियों में दो धाम के लिए प्रस्थान किया। चेक पोस्ट प्रभारी एआरटीओ प्रवर्तन पंकज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि बह्मपुरी और भद्रकाली दोनों चेक पोस्ट पर यात्रा पर जाने वाले व्यवसायिक वाहनों की तमाम जानकारी ली जा रही है। चार धाम के लिए गुरुवार को कोई व्यवसायिक वाहन नहीं आया। दो धाम यानी बदरीनाथ और केदारनाथ जाने के लिए 110 यात्री यहां से रवाना हुए। इनमें दो बस में 75 यात्री, दो टैक्सी-मैक्सी वाहन में 20 यात्री और एक पुश बैक बस में 15 यात्री रवाना हुए।

उन्होंने बताया कि गुरुवार को ऋषिकेश कार्यालय से 72 ग्रीन कार्ड जारी किए गए। चेक पोस्ट पर जांच के दौरान दो वाहन ऐसे सीज किए गए जो निजी थे और व्यवसायिक प्रयोग में लाए जा रहे थे। इनके अतिरिक्त 15 वाहनों का चालान किया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.