केंद्रीय संयुक्त सचिव ने देहरादून की स्थिति जांची

केंद्रीय संयुक्त सचिव ने देहरादून की स्थिति जांची
Publish Date:Fri, 25 Sep 2020 08:59 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, देहरादून: उत्तराखंड के लिए गठित टीम की सदस्य केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की संयुक्त सचिव निधिमणी त्रिपाठी ने देहरादून की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने कोरोना संक्रमण की रोकथाम और बचाव को उठाए जा रहे कदमों की जानकारी लेते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

कलक्ट्रेट स्थित ऋषिपर्णा सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में केंद्रीय संयुक्त सचिव ने होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए मास्क, डिस्पोजल, शारीरिक दूरी आदि का पालन कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हाई ब्लड प्रेशर, लो ब्लड प्रेशर, टीवी, हृदय रोग एवं मधुमेह रोगियों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। इसके बाद उन्होंने आइटीडीए स्थित कोविड कंट्रोल रूम का निरीक्षण भी किया। उन्होंने जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग की ओर से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों की प्रशसा की।

जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि अभी तक जनपद में आरटीपीसीआर के तहत 75384, एंटीजन टेस्ट के तहत 22506 लोगों की सैंपलिंग कर ली गई है। जनपद का रिकवरी रेट 62 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि जनपद में एंबुलेंस, आक्सीजन सिलेंडरों की कोई कमी नहीं है। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में 68 प्रतिशत संक्रमित होम आइसोलेशन में रह रहे हैं। जिनकी 24 घंटे निगरानी की जा रही है। बैठक में एम्स के डॉक्टर गिरीश सिधवानी, उप निदेशक डॉ. निशांत, मुख्य विकास अधिकारी नितिका खंडेलवाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. अनूप कुमार डिमरी, अपर जिलाधिकारी बीर सिंह बुदियाल, अरविंद पांडेय एवं गिरीश चंद्र गुणवंत, दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना, डॉ. राजीव दीक्षित, डॉ. एनएस खत्री आदि उपस्थित रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.