ऋषिकेश में पौधारोपण कर महापौर ने दिया प्रकृति के संरक्षण का संदेश

मानसून के आगमन एवं गंगा दशहरा पर्व के मौके पर नगर निगम महापौर ने देहरादून रोड़ स्थित जंगलात बैरियर पर पौधरोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। इस अवसर पर महापौर ने प्रत्येक व्यक्ति से पांच-पांच पौधे लगाने और उनकी अपने बच्चे की तरह संरक्षित करने की अपील की है।

Sumit KumarSun, 20 Jun 2021 04:05 PM (IST)
नगर निगम महापौर ने देहरादून रोड़ स्थित जंगलात बैरियर पर पौधरोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया।

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: मानसून के आगमन एवं गंगा दशहरा पर्व के मौके पर नगर निगम महापौर ने देहरादून रोड़ स्थित जंगलात बैरियर पर पौधरोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। इस अवसर पर महापौर ने प्रत्येक व्यक्ति से पांच-पांच पौधे लगाने और उनकी अपने बच्चे की तरह संरक्षित करने की अपील की है। महापौर ने कहा कि आक्सीजन के बगैर जीवन की कल्पना संभव नहीं है।

कोविड के संक्रमण ने इसका एहसास करा दिया है। यह हम सब के लिए नसीहत है कि हम प्रकृति की रक्षा करें और इसका संव‌र्द्धन करें। उन्होंने कहा कि पौधा रोपित करने तक हमारी जिम्मेदारियां खत्म नहीं हो जाती। पौधों का संरक्षण करना भी जरूरी है। महापौर अनीता ममगाईं ने कहा कि हम विकास की बात तो करते हैं, लेकिन निजी स्वार्थ के चलते जो प्राकृतिक विनाश हुआ है, उसका खमियाजा आज संपूर्ण मानव जाति को वैश्विक महामारी कोरोना के रूप में उठाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल ने सबको आक्सीजन की कीमत का अहसास कराने का काम किया है।उन्होंने बताया कि निगम के तमाम क्षेत्रों में वृहद स्तर पर पौधरोपण की मुहिम चलाई जायेगी जिसमें तमाम सामाजिक संस्थाओं का सहयोग भी लिया जाएगा। इस दौरान वन क्षेत्राधिकारी महेंद्र सिंह रावत मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- जिलाधिकारी ने अधिकारियों को दी हिदायत, स्मार्ट सिटी के कार्यों में पानी न होने दें जमा

 

कस्तूरी संस्था ने बांटी राशन किट

 भारतीय वन सेवा के अधिकारियों की पत्नी और महिला अधिकारियों की ओर से संचालित कस्तूरी संस्था कोरोनाकाल में जरूरतमंदों की सेवा कर रही है। इसी क्रम में संस्था की ओर से शनिवार को मालदेवता पौधशाला में टिहरी के जौनपुर ब्लाक की सात वन पंचायतों के जरूरतमंद परिवारों को राशन किट उपलब्ध कराई।

संस्था की अध्यक्ष शर्मिला भरतरी ने बताया कि वन पंचायत सौंदणा, तौलियाकाटल, दडक, चिपलटी, रगडगांव, हटवालगांव और कुंड के गरीब और जरूरतमंद परिवारों को राशन किट दी गई। उन्होंने कहा कि इस विपदा की परिस्थिति में सभी को यथासंभव मदद के लिए आगे आना चाहिए। वहीं संस्था से जुड़़ी महिलाओं ने ग्रामीणों से संवाद कर बच्चों की पढ़ाई, असहाय परिवार की आजीविका संबंधी परेशानी के निस्तारण के लिए सहयोग का आश्वासन दिया। इस दौरान विभिन्न क्षेत्र पंचायतों से आए सरपंच और ग्रामीणों ने संस्था की ओर से किए जा रहे कार्य की सराहना की। इस मौके पर मसूरी वन प्रभाग की प्रभागीय वनाधिकारी कहकशां नसीम, नीना ग्रेवाल, नीलिमा शाह आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- बरसात में कभी भी कहर बरपा सकती है रिस्पना और बिंदाल नदी, 30 बस्तियों पर खतरा

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.