top menutop menutop menu

दीपावली पर बसें रहीं पूरी तरह फुल, ट्रेनों में पांव रखने तक की जगह नहीं

देहरादून, जेएनएन। हर किसी को घर जाने की जल्दी। चाहे बस में पांव रखने की जगह ही क्यों न हो, मगर किसी तरह जद्दोजहद कर बस में चढ़ गए और पूरा सफर खड़े होकर तय किया। दीपावली पर घर जाने वालों का यह नजारा शुक्रवार रात आइएसबीटी पर देखने को मिला। बसें पूरी तरह फुल रहीं। हल्द्वानी, बरेली, आगरा व टनकपुर रूट पर यात्रियों की भीड़ सबसे ज्यादा रही। यहां लगाई गई अतिरिक्त बसें भी कम पड़ गई। दूसरी तरफ, रेलवे स्टेशन पर भी यात्रियों का यही नजारा दिखा। रात की ट्रेनों में पांव रखने तक की जगह नहीं रही। ट्रेन में दून एक्सप्रेस, चेन्नई एक्सप्रेस, लिंक एक्सप्रेस, जनता एक्सप्रेस एवं हावड़ा एक्सप्रेस समेत काठगोदाम व मसूरी एक्स. में यात्रियों की भारी भीड़ रही।

दीपावली की छुट्टियों पर घर जाने के लिए यात्रियों की मारामारी शुक्रवार दोपहर से ही शुरू हो गई थी। केंद्रीय कर्मियों की शनिवार से छुट्टी होने के कारण कर्मचारी बड़ी संख्या में दोपहर बाद ही आफिसों से निकल गए और परिवार समेत अपने घर रवाना होने आइएसबीटी और रेलवे स्टेशन पहुंच गए। आइएसबीटी पर सबसे ज्यादा रेला हल्द्वानी रूट पर दिखा।

रोडवेज की अतिरिक्त बसें लगाई गई थी लेकिन ये भी कम पड़ती दिखी। वाल्वो व हाईटेक की टिकट बुकिंग तो पहले ही फुल थी। ऐसे में साधारण बसों में सीटें फुल होने पर काफी यात्रियों ने स्टैंडिंग सफर किया। हालात ये रहे कि यात्री बसों की छतों पर चढ़ सफर करने को तैयार थे, लेकिन इसकी इजाजत नहीं मिली। यूपी रोडवेज ने भी अतिरिक्त बसें लगाई हुई थी। कुमाऊं की तरफ जाने वाले यात्रियों की संख्या खासी अधिक होने के कारण यात्रियों ने मैक्स कैब व टैक्सी से भी सफर किया।

दिल्ली से आने वालों का रेला

इस बार दीपावली पर दिल्ली जाने वालों का कम बल्कि दिल्ली से आने वालों का रेला बेहद ज्यादा है। अकेले दिल्ली रूट पर पूरे प्रदेश से 120 अतिरिक्त बसें लगाई गई हैं, जो आने वाले यात्रियों के लिए सुविधा बनेंगी। दिल्ली रूट पर अकेले दून से 50 अतिरिक्त बसें लगाई गई हैं। इनमें चार बसें वाल्वो शामिल हैं। हल्द्वानी रूट पर 21 बसें जबकि बरेली रूट पर तीन अतिरिक्त बसें लगाई गई। एक अतिरिक्त बस आगरा भी भेजी गई। वहीं, रोडवेज प्रबंधन को आज भी काफी भीड़ जुटने का अनुमान है। इस कारण सभी बसों को रूटों पर लगाया गया है। कर्मचारियों को छुट्टी भी नहीं दी जा रही।

डग्गामार वाहनों ने काटी चांदी

दीपावली पर बसें और ट्रेनें कम पड़ जाने से डग्गामार वाहनों की जमकर मौज आई। मैक्स, कैब, टैक्सी व प्राइवेट बस वालों ने यात्रियों को जमकर लूटा। दो सौ रुपये के किराए वाले सफर के डग्गामार वाहनों द्वारा साढ़े तीन सौ से चार सौ रुपये तक वसूले गए। मजबूरी में यात्रियों को इन वाहनों की मनमानी सहन करनी पड़ी। बुधवार सुबह से रात तक डग्गामार वाहन दौड़ते रहे, पर जिम्मेदार सरकारी महकमों ने इन्हें पकडऩे की जहमत नहीं उठाई।

यह भी पढ़ें: देहरादून रेलवे स्टेशन पर दस दिन बाद लौटी रौनक Dehradun News

रोडवेज कर्मियों को भी मिला बोनस

दीपावली पर राज्य सरकार के कर्मियों की तर्ज पर रोडवेज प्रबंधन ने भी शुक्रवार को बोनस के आदेश जारी कर दिए। रोडवेज में भी 4800 ग्रेड-पे तक के नियमित कर्मियों को 6908 रुपये जबकि विशेष श्रेणी और संविदा कर्मियों को 1184 रुपये का बोनस दिया जाएगा। इसके साथ ही मुख्यालय ने विशेष श्रेणी व संविदा के सभी कर्मचारियों का सितंबर का वेतन भी बांट दिया है मगर नियमित कर्मचारियों का वेतन अगले महीने दिया जाएगा। उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन के महामंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि यह यूनियन के प्रयास से ही संभव हो पाया है। 

यह भी पढ़ें: दीपावली के लिए दुल्हन की तरह सजे दून के बाजार, उमड़ने लगी भीड़ Dehradun News

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.