top menutop menutop menu

पूर्व सीएम रावत राजनैतिक नर्तक हैं तो राजस्थान जाएं : बंशीधर भगत

देहरादून, राज्य ब्यूरो। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत के खुद को राजनैतिक नर्तक बताने पर भाजपा ने करारा तंज कसा है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने बुधवार को कहा कि रावत यदि राजनैतिक नर्तक हैं तो राजस्थान जाएं, वहां खूब डमरू बज रहा है। उन्होंने यह भी आरोप जड़ा कि रावत ने ही अपने कार्यकाल में बिल्डरों को संरक्षण देने के लिए ही हरिद्वार में गंगा नदी की हरकी पैड़ी को जोडऩे वाली धारा को नहर घोषित किया था।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भगत ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पत्रकारों से बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि गंगा के परिप्रेक्ष्य में रावत ने कहा था कि जहां डमरू बजेगा वो नाचेंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान में राजस्थान में खूब डमरू बज रहा है, लिहाजा रावत वहां जाएं और राज्य की जनता को कोरोना से बचाने में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री रावत ने ही अपने कार्यकाल में हरिद्वार में गंगा को नहर घोषित किया। यह सब बिल्डरों को संरक्षण देेने के लिए किया गया। उन्होंने कहा कि अब रावत माफी मांग रहे हैं, मगर गलती कर दी कहनेभर से अपराध कम नहीं हो जाता।

15 अगस्त तक मोर्चों का गठन

भगत ने कहा कि अल्पसंख्यक मोर्चा को छोड़ पार्टी के अन्य सभी छह मोर्चों के अध्यक्ष पूर्व में घोषित कर दिए गए थे। कोरोना संकट के चलते इनकी कार्यकारिणी के साथ ही जिला व मंडल स्तर पर गठन नहीं हो पाया। 15 अगस्त तक मोर्चों की कार्यकारिणी के साथ ही जिला व मंडल स्तर पर इकाइयां गठित कर दी जाएंगी।

भट्ट आते हैं तो बुराई नहीं

दूसरे प्रांत में कार्यरत भाजपा के संगठन मंत्री सुरेश भट्ट के उत्तराखंड आने की चर्चा के बारे में पूछे जाने पर भगत ने कहा कि अगर भट्ट आते हैं तो कोई बुराई नहीं। हालांकि, उन्होंने कहा कि इस बारे में कोई चर्चा पार्टी स्तर पर नहीं हुई है।

मोदी सरकार का स्वर्णिम काल

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भगत ने यह भी कहा कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष से स्वर्णिम रहा है। उन्होंने मोदी सरकार की उपलब्धियां भी गिनाईं। साथ ही कोरोनाकाल में पार्टी द्वारा किए गए कार्यों का ब्योरा रखा।

यह भी पढ़ें: Rajya Sabha Election: श्याम जाजू की खुलेगी लॉटरी, या लगेगा विजय बहुगुणा का नंबर

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.