आयुर्वेदिक पैनकेक देगा स्वाद के साथ सुरक्षा, जानिए इसे बनाने का आसान तरीका

आयुर्वेदिक पैनकेक देगा स्वाद के साथ सुरक्षा।

Immunity booster competition दैनिक जागरण संगिनी क्लब इम्यूनिटी बूस्टर प्रतियोगिता के तहत चयनित सर्वश्रेष्ठ रेसिपी आज से आप के साथ साझा की जा रही हैं। इस क्रम में पहली रेसिपी आरती शर्मा द्वारा तैयार आयुर्वेदिक पैनकेक की है।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 03:40 PM (IST) Author: Raksha Panthri

जागरण संवाददाता, देहरादून। दैनिक जागरण संगिनी क्लब इम्यूनिटी बूस्टर प्रतियोगिता के तहत चयनित सर्वश्रेष्ठ रेसिपी आज से आप के साथ साझा की जा रही हैं। इस क्रम में पहली रेसिपी आरती शर्मा द्वारा तैयार आयुर्वेदिक पैनकेक की है। यह पैनकेक स्वादिष्ट होने के साथ आपकी प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाता है। 

आरती शर्मा ने बताया कि आयुर्वेदिक पैनकेक तैयार करने के लिए एक कप मूंग की दाल और आधा कप चावल रात को भिगोकर रख दें। सुबह इसे बारीक पीस लें। इसके बाद मूंग की दाल और चावल के पेस्ट को शिमला मिर्च, कसी हुई गाजर, गरम मसाला, हरी मिर्च, हींग, सेंधा नमक डालकर अच्छी तरह फेंट लें। नॉनस्टिक पैन में एक चम्मच देशी घी या नारियल तेल डालकर गरम करें और फिर इसपर पूरा पेस्ट फैला दें। 

ऊपर से हल्दी का एक पत्ता, करी के पांच पत्ते, बेसिल के पांच पत्ते, पुदीना के पांच पत्ते, अजवाइन के चार पत्ते बारीक पीसकर इस पर फैला दें। तीन मिनट तक पकाने के बाद इसे पलट दें और दूसरी तरफ भी ठीक से सेक लें। इसके बाद गरमा-गरम पैनकेक को नारियल और लहसुन की चटनी के साथ सर्व करें। 

डायटीशियन दीरशिखा गर्ग ने बताया कि इस रेसिपी में जिन खाद्य पदार्थों का इस्तेमाल हुआ है, उनमें से अधिकांश हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक हैं। इसके अलावा शिमला मिर्च और गाजर से शरीर में विटामिन-सी की पूर्ति होती है। 

देवभूमि संस्थान ने खिचड़ी वितरित की

मकर सक्रांति के उपलक्ष्य में देवभूमि संस्थान के होटल प्रबंधन विभाग की ओर से भाऊवाला चौक पर खिचड़ी व तिलकुट वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर स्थानीय निवासियों को खिचड़ी परोसी गई। देवभूमि संस्थान समय-समय पर सामुदायिक विकास कार्यक्रम के तहत इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित करता आ रहा है। कार्यक्रम को सफल बनाने में होटल प्रबंधन के निदेशक विनोद श्रीवास्तव का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

यह भी पढ़ें- पहाड़ी टोपी और नथ का इंटरनेट मीडिया पर बढ़ा क्रेज, डीजीपी ने भी किया चैलेंज स्वीकार

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.