दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने ग्रेड पे को लेकर किया पुलिसकर्मियों का समर्थन

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने पुल‍िस के ग्रेड पे दिए जाने की मांग का समर्थन किया है।

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने उत्तराखंड पुलिस में कार्यरत कांस्टेबल रैंक की 20 साल की सेवा के बाद उन्हें 4600 रुपये ग्रेड पे दिए जाने की मांग का समर्थन किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर इस मसले का समाधान करने का आग्रह किया है।

Sumit KumarSun, 16 May 2021 11:50 AM (IST)

राज्य ब्यूरो, देहरादून: विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने उत्तराखंड पुलिस में कार्यरत कांस्टेबल रैंक की 20 साल की सेवा के बाद उन्हें 4600 रुपये ग्रेड पे दिए जाने की मांग का समर्थन किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर इस मसले का समाधान करने का आग्रह किया है।

पुलिस विभाग में पहले 20 साल की संतोषजनक सेवा पर सिपाही को उप निरीक्षक के बराबर 4600 रुपये का ग्रेड पे दिया जाता था। इसी तरह 30 साल की सेवा पर यह निरीक्षक के बराबर 4800 रुपये देने का प्रविधान था। अब सिपाहियों को 20 साल की संतोषजनक सेवा पर 2800 रुपये का ग्रेड पे दिए जाने की बात कही जा रही है। इसे लेकर पुलिसकर्मियों में असंतोष भी उभर रहा है।विधानसभा अध्यक्ष अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर उत्तराखंड पुलिस में वर्ष 2001 व 2002 के कांस्टेबल रैंक की वेतन विसंगति की तरफ ध्यान आकृष्ट कराया है। उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण के समय से पुलिसकर्मी फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में आमजन की सेवा में जुटे हैं।

यह भी पढ़ें- उत्‍तराखंड में कोरोना के साथ अब बढ़ रहा ब्लैक फंगस का खतरा, जानिए क्‍या हैं इसके लक्षण

वेतनमान की विसंगति दूर न होने से उनके मनोबल पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने कहा है कि पुलिस एक अनुशासित बल है। वे अन्य राज्यकर्मियों की भांति अपनी पीड़ा सार्वजनिक रूप से प्रकट नहीं कर सकते। उन्होंने मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि पुलिसकर्मियों को 20 वर्ष की सेवा के उपरांत 4600 ग्रेड पे देने के संबंध में पुनर्विचार कर आदेश निर्गत किए जाएं।

यह भी पढें- Uttarakhand Coronavirus Update: कोरोना से सर्वाधिक 197 की मौत, 5654 लोग मिले संक्रमित

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.