मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा- सैन्यधाम के साथ ही बनेगा संस्कृति ग्राम

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सैन्यधाम निर्माण के लिए आवश्यक कार्यवाही जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सैन्यधाम के साथ ही संस्कृति ग्राम भी बनाया जाए। इसके लिए अलग कार्ययोजना तैयार की जाए। सैनिक कल्याण निदेशालय में सैन्यधाम सेल भी बनाया जाएगा।

Sunil NegiMon, 21 Jun 2021 07:29 PM (IST)
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा- सैन्यधाम के निर्माण के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई जल्द पूर्ण की जाए।

राज्य ब्यूरो, देहरादून। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सैन्यधाम निर्माण के लिए आवश्यक कार्यवाही जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सैन्यधाम के साथ ही संस्कृति ग्राम भी बनाया जाए। इसके लिए अलग कार्ययोजना तैयार की जाए। सैनिक कल्याण निदेशालय में सैन्यधाम सेल भी बनाया जाएगा।

सोमवार को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में सैन्यधाम निर्माण के लिए गठित उच्च स्तरीय समिति की बैठक हुई। बैठक में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सैन्य धाम निर्माण के लिए सभी आवश्यक कार्यवाही जल्द पूर्ण कर ली जाए। यह राज्य सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट है। उत्तराखंड में जो सैन्यधाम बनाया जाएगा, उसकी देश में अलग पहचान होगी। उत्तराखंड सैनिक बहुल राज्य है। प्रदेश के अनेक सैनिकों ने देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहुति दी है। शहीद सैनिकों के घरों के आंगन से मिट्टी सैन्यधाम में लाई जाएगी। उन्होंने कहा कि सैन्य धाम के साथ ही पुरकुल क्षेत्र में संस्कृति ग्राम के लिए भी कार्ययोजना तैयार की जाए।

सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के अनुसार राज्य में भव्य सैन्यधाम का निर्माण किया जा रहा है। सैन्यधाम को न केवल एक शहीद स्मारक, बल्कि आकर्षक पर्यटक स्थल के रूप में विकसित करने की भी योजना है। सैन्यधाम देश के युवाओं को भारतीय सेना की वीर गाथाओं से परिचित कराएगा और यहां आने वाले युवाओं के लिए प्रेरणा का माध्यम भी बनेगा।

उन्होंने कहा कि स्मारक के साथ संग्रहालय, बहादुरी पदक गैलरी, विभिन्न महत्वपूर्ण युद्धों का विवरण तथा सेना से जुड़े उपकरण व हथियार भी प्रदर्शित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सैन्यधाम के भूमि पूजन के लिए उन्होंने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को आमंत्रण दिया है। उन्होंने आने का वादा भी किया है। कैबिनेट मंत्री ने बताया कि सैन्यधाम के लिए चार एकड़ जमीन सैनिक कल्याण विभाग के नाम हस्तांतरित हो गई है। सैन्यधाम का निर्माण दो चरणों में किया जाएगा।

पहले चरण में सैन्यधाम परिसर में सैन्य उपकरण स्थापित करने के लिए धरातल तैयार करने व चहारदीवारी बनाने का काम किया जाएगा। बैठक में मुख्य सचिव ओमप्रकाश, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव एल फैनई, सचिव सुशील कुमार, जिलाधिकारी देहरादून आशीष श्रीवास्तव, उपनल के एमडी बिग्रेडियर पीपीएस पाहवा (सेनि) और निदेशक सैनिक कल्याण बिग्रेडियर केबी चंद (सेनि) उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें-प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में नहीं पहुंचे हरक, इस बात से जोड़कर देखी जा रही उनकी नाराजगी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.