पोक्सो और दुष्कर्म में मामलों की सुनवाई में उपस्थित हों अधिवक्ता

जिला जज प्रशांत जोशी ने संबंधित अधिवक्ताओं को नियत तिथियों पर अदालत में उपस्थित होने को कहा है।

पोक्सो और दुष्कर्म के मामलों में सुनवाई और गवाहों के बयान के लिए जिला जज प्रशांत जोशी ने संबंधित अधिवक्ताओं को नियत तिथियों पर अदालत में उपस्थित होने को कहा है। इस बाबत जिला जज की ओर से बार एसोसिएशन को भी पत्र लिखा है।

Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 08:18 AM (IST) Author: Sunil Negi

देहरादून, जेएनएन। पोक्सो और दुष्कर्म के मामलों में सुनवाई और गवाहों के बयान के लिए जिला जज प्रशांत जोशी ने संबंधित अधिवक्ताओं को नियत तिथियों पर अदालत में उपस्थित होने को कहा है। इस बाबत जिला जज की ओर से बार एसोसिएशन को भी पत्र लिखा है। उन्होंने कहा है अब इन मामलों की सुनवाई में तेजी लाने की आवश्यकता है, जिससे लंबित मामले निस्तारित हो सकें।

लॉकडाउन के बाद से लगभग सभी अदालतों में रोस्टर के तहत काम हो रहा था। इससे अदालत में लंबित मामलों की संख्या बढ़ गई है। बीती 12 अक्टूबर से सभी अदालतों में काम होने लगा है। लेकिन, नैनीताल हाईकोर्ट ने पोक्सो और दुष्कर्म के मामलों के निस्तारण पर विशेष जोर दिया है। जिसके मद्देनजर जिला जज ने यह आदेश पारित किए हैं। उन्होंने बार एसोसिएशन को पत्र लिखकर इस संबंध में जानकारी दी है। बताया है कि अब पोक्सो और दुष्कर्म के मुकदमों में नियमित रूप से व्यक्तिगत सुनवाई और गवाहियां होनी हैं। ऐसे में दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं की उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। 

डीआइजी ने किया घटनास्थल का मुआयना

डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने बुधवार को प्रेमनगर के बालाजी धाम के निकट हुई साइकिल मिस्री गंगाराम की दुकान का मौका मुआयना किया। बीते शनिवार को साइकिल मिस्त्री का शव उसी की दुकान में पड़ा मिला था। सिर पर पीछे चोट के निशान होने के कारण इस मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल मामला अभी हत्या और दुर्घटना के बीच उलझा हुआ है।

बता दें कि, बीते शनिवार को साइकिल मिस्त्री गंगाराम का शव उसकी दुकान में बिस्तर पर पड़ा मिला था। दुकान का दरवाजा बाहर से बंद था। इसका पता तब चला जब सुबह उसकी पत्नी उसे जगाने पहुंची। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम कराया। जिसमे सिर पर भारी वस्तु से चोट लगने की पुष्टि हुई। इस मामले में पुलिस गंगाराम के आसपास रहने वाले करीब दो दर्जन से अधिक के बयान ले चुकी है। वहीं, बुधवार को डीआइजी अरुण मोहन जोशी भी प्रेमनगर पहुंचे। उन्होंने घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया और गंगाराम की पत्नी से मुलाकात भी की। 

यह भी पढ़ें: हरिद्वार में युवक ने पत्नी और दो बच्चों को जहर खिलाने के बाद खुद भी खाया, महिला की मौत

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.