देहरादून में दवा व्यापारी के घर चोरी करने वाले गिरफ्तार

दवा व्यापारी के घर चोरी करने वाले गिरोह के सभी तीनों सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

देहरादून रायपुर के दशमेष विहार में दवा व्यापारी के घर से लाखों रुपये के जेवरात चोरी करने वाले गिरोह के सभी तीनों सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों के पास भारी मात्रा में जेवरात मिले हैं।

Sunil NegiFri, 26 Feb 2021 07:21 PM (IST)

जागरण संवाददाता, देहरादून। रायपुर के दशमेष विहार में दवा व्यापारी के घर से लाखों रुपये के जेवरात चोरी करने वाले गिरोह के सभी तीनों सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों के पास भारी मात्रा में जेवरात मिले हैं। बताया जा रहा है कि उन्होंने कुछ जेवरात पलटन बाजार में एक सराफ को भी बेचे। पुलिस इसकी भी जांच कर रही है।  रायपुर थानाध्यक्ष दिलबर सिंह नेगी ने बताया कि इसी 18 फरवरी को दवाई का व्यापार करने वाले रवि गुलेरिया निवासी दशमेष विहार ने चोरी की शिकायत दर्ज कराई थी। रवि के अनुसार, 17 फरवरी को वह पत्नी के साथ कहीं गए थे। 18 फरवरी की रात घर लौटे तो जेवरात गायब थे।

पुलिस ने चोरों का पता लगाने के लिए घटनास्थल के आसपास लगे 100 सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। साथ ही चोरी व नकबजनी की घटनाओं के उन आरोपितों से पूछताछ की, जो हाल ही में जेल से छूटे हैं। सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में घटनास्थल के पास एक मोटरसाइकिल में तीन युवक चक्कर लगाते नजर आए। युवकों की हरकतें संदिग्ध लगने पर पुलिस ने उनके बारे में जानकारी जुटाई। उनकी पहचान संतोष रावत निवासी नई बस्ती क्लेमेनटाउन, शुभम नेगी निवासी ग्राम पाबो पौड़ी गढ़वाल वर्तमान निवासी नया गांव विजयपुर हाथीबड़कला डालनवाला और आशीष निवासी ग्राम बेरगड़ी पाली चंबा टिहरी गढ़वाल वर्तमान निवासी न्यू सर्वे रोड डालनवाला के रूप में हुई। छानबीन में पुलिस को यह भी पता चला कि संतोष हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ चोरी व नकबजनी के 20 मुकदमे दर्ज हैं। इसके बाद पुलिस ने तीनों युवकों को पकड़ने के लिए दबिश दी तो उनके पास भारी मात्रा में जेवरात भी मिले। पुलिस के अनुसार, आरोपितों के पास से करीब सात लाख रुपये कीमत के जेवरात मिले हैं।

लखनऊ ज्वेलर्स को बेचे थे गहने

आरोपितों ने पुलिस को बताया कि 17 फरवरी को वह डीएल रोड स्थित एक होटल में ठहरे थे। वहीं पर दशमेष विहार में चोरी की योजना बनाई। रात होने पर वह मोटरसाइकिल से दशमेष विहार पहुंचे। वहां रवि के घर में ताला लटका देखकर वहीं चोरी करने का फैसला किया। रेकी के बाद रात करीब साढ़े नौ बजे संतोष घर के अंदर दाखिल हुआ, जबकि आशीष और शुभम बाहर नजर रखे हुए थे। घर से जेवरात समेटने के बाद तीनों होटल पहुंचे और वहां उनका बंटवारा किया। अगले दिन उन्होंने होटल छोड़ दिया। इसके बाद कुछ जेवरात पलटन बाजार में लखनऊ ज्वेलर्स को बेचे। संतोष ने जेवरात बेचने से मिले एक लाख रुपये अपने खाते में जमा कर दिए। पुलिस ने खाता सीज करा दिया है।

यह भी पढ़ें-बरेली से स्मैक ला रहे तस्कर को सहसुपर पुलिस ने दबोचा

 

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.