देवदार की लकड़ी के तस्करी में दो पिकअप सीज

कालसी चकराता वन प्रभाग के रीवर डाकपत्थर रेंज की टीम को लकड़ी तस्करी मामले में कामयाबी मिली। टीम ने दो तस्करों को 55 नग देवदार लकड़ी के साथ गिरफतार कर जेल भेजा।

JagranFri, 26 Nov 2021 09:07 PM (IST)
देवदार की लकड़ी के तस्करी में दो पिकअप सीज

संवाद सूत्र, कालसी: चकराता वन प्रभाग के रीवर डाकपत्थर रेंज की टीम को लकड़ी तस्करी मामले में बड़ी सफलता हाथ लगी। रात्रि गश्त के दौरान टीम ने कालसी-जुड्डो मार्ग पर अवैध देवदार की लकड़ी से भरी दो पिकअप पकड़ी, जिसमें देवदार की लकड़ी के तस्करी में शामिल दो आरोपितों को गिरफ्तार किया। वाहन में लदे देवदार के 55 नग भी बरामद किए। वन क्षेत्राधिकारी गंभीर सिंह धमान्दा ने कहा आरोपितों के विरुद्ध फारेस्ट एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। बरामद अवैध लकड़ी को जब्त कर डाकपत्थर डिपो में रखा गया है।

चकराता वन प्रभाग के जंगलों की सुरक्षा खतरे में है। लकड़ी तस्करों की सक्रियता के चलते यहां रात के अंधेरे में चोरी-छुपे इसका धंधा चल रहा है। वन विभाग की टीम की चेकिग के चलते क्षेत्र में पिछले कुछ समय से लकड़ी तस्करी के कई मामले सामने आने से वनों की सुरक्षा को लेकर बड़ी चुनौती है। इसी कड़ी में बीते गुरुवार शाम को चकराता वन प्रभाग से जुड़े रीवर रेंज के क्षेत्राधिकारी गंभीर सिंह धमान्दा और डिप्टी रेंजर यशपाल सिंह के नेतृत्व में टीम गश्त पर निकली। टीम ने जुड्डो-कालसी मार्ग पर सामने से आ रही दो पिकअप गाड़ी को रोकने का प्रयास किया, लेकिन वह तेज गति से आगे निकल गई। संदेह होने पर टीम ने इन दोनों लोडर वाहनों का पीछा कर उसे कुछ दूरी पर रोक लिया। रेंज अधिकारी गंभीर सिंह धमान्दा ने बताया कि लोडर वाहनों में लकड़ी के कुल 55 नग जब्त किए। टीम की मुस्तैदी से लकड़ी तस्करी में शामिल आरोपित दोनों वाहन चालक को पकड़ लिया गया। जबकि दो अन्य तस्कर मौके से फरार हो लिए। आरोपितों की पहचान विनोद निवासी हयौ-टगरी, अरविंद निवासी सुजोऊ, विक्रम और अर्जुन सिंह दोनों निवासी ग्राम छुटोऊ समेत चार के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। गिरफ्तार आरोपित विनोद और अरविद को शुक्रवार न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश कर जेल भेज दिया। रेंजर ने कहा लकड़ी तस्करी में फरार दो अन्य आरोपितों की धरकपड़ के प्रयास जारी है। रेंजर ने कहा कि इनमें एक आरोपित तस्कर विक्रम निवासी छुटोऊ के विरुद्ध इससे पूर्व भी वन विभाग में लकड़ी तस्करी के कई मामले में दर्ज हैं। विभाग की ओर से इसके विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट लगाने की कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। बरामद देवदार लकड़ी की बाजार कीमत करीब तीन लाख रुपये बताई जा रही है। टीम में वन कर्मी आशीष चंद्रा, देवेंद मिश्रा, मेहरबान सिंह व किशन नेगी आदि मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.