top menutop menutop menu

CoronaVirus: सरकार की सख्ती, पांच क्षेत्रों में 34 हजार लोग होम क्वारंटाइन Dehradun News

देहरादून, जेएनएन। पिछले तीन दिनों में जिले के सात जमातियों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद देहरादून और डोईवाला के पांच क्षेत्रों को टोटल लॉक कर दिया गया है। जिससे करीब 34 हजार लोग होम क्वारंटाइन हो गए हैं। यह वह लोग हैं, जो पक्के तौर पर बंद किए गए हैं, जिन्हें बाहर जाने की इजाजत नहीं है। प्रशासन इन लोगों को सभी आवश्यक वस्तुएं घर पर ही उपलब्ध करवा रहा है।

जमात से लौटे लोगों में कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उनके आसपास रहने वाले लोग भी परेशान हैं। पुलिस और जिला प्रशासन की ओर से देहरादून में कारगी ग्रांट, रायपुर स्थित भगत सिंह कॉलोनी, लक्खीबाग स्थित मुस्लिम बस्ती जबकि डोईवाला में केशवपुरी और झबरावाला बस्ती के कुछ क्षेत्र को लॉक किया गया है।

इन क्षेत्रों में पुलिस की ओर से सुरक्षा के लिए बाहर बेरिकेडिंग जबकि अंदर के रास्ते लकड़ी के फट्टे लगाकर बंद कर दिए गए हैं। पांचों क्षेत्रों में एक-एक मुख्य गेट बनाया हुआ है ताकि आवश्यक सेवाओं के लिए टीम अंदर-बाहर आ-जा सके।

हर घर पर पुलिस की निगरानी

लॉक किए गए क्षेत्रों में पुलिस कड़ी निगरानी कर रही है। प्रत्येक क्षेत्र में ड्रोन से निगरानी की जा रही है। इसके अलावा पुलिस खुद भी पैदल मार्च कर रही है। पुलिस के अनुसार पांचों क्षेत्रों में शांति रही। होम क्वारंटाइन किए गए लोगों के बाहर घूमने की कोई शिकायत नहीं मिली है।

घर-घर पहुंचाएंगे राशन

डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने बताया जिन क्षेत्रों को टोटल लॉक किया गया है, वहां जरूरत का सभी सामान उपलब्ध कराया जा रहा है। इसमें गैस सिलेंडर, राशन, दूध, आवश्यक दवाइयां आदि शामिल हैं।

वन गुर्जरों का होगा स्वास्थ्य परीक्षण

राजाजी टाइगर रिजर्व में डेरा डाले वन गुर्जर परिवारों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाएगा। टाइगर रिजर्व की गौहरी रेंज में आधिकारिक रूप से 13 वन गुर्जर परिवार रह रहे हैं, लेकिन इन परिवारों की वास्तविक संख्या 20 से ज्यादा है। इसके अलावा देहरादून में रामगढ़ रेंज में आशारोड़ी चेकपोस्ट के नजदीक एक वन गुर्जर परिवार है।

आशंका जताई जा रही कि तब्लीगी जमात के लोग पूर्व में इन वन गुर्जर परिवारों से भी मिल सकते हैं। रिजर्व के निदेशक पीके पात्रो ने बताया कि इन परिवारों की सूची पौड़ी व देहरादून के जिलाधिकारियों को सौंप दी गई है। साथ ही इनका स्वास्थ्य परीक्षण कराने का भी आग्रह किया गया है।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lockdown: उत्तराखंड में लॉकडाउन पर अभी वेट एंड वॉच, छूट में की जा सकती है कटौती

जिले में मजदूरों की काउंसिलिंग की गई

देहरादून जिले में 26 राहत शिविर में 578 लोगों को ठहराया गया है। डीएम के निर्देश पर यहां रहने वाले व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण एवं कांउसिलिंग की गयी। वहीं, विभिन्न विभागों एवं संस्थानों के 380 कर्मियों को एसीएमओ डॉ. एके डिमरी ने प्रशिक्षण दिया।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Lockdown: अब देहरादून के लक्खीबाग और डोईवाला की दो बस्तियां लॉक

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.