जमीन दिलाने के नाम पर 26 लाख रुपये हड़पे, पुलिस ने दर्ज किया धोखाधड़ी का मुकदमा

दून में जमीन धोखाधड़ी के मामले फिर पुलिस की चुनौती बढ़ाने लगे हैं। पटेलनगर पुलिस ने ऐसे दो मामलों में मुकदमा दर्ज किया है। पटेलनगर पुलिस को मेहूंवाला निवासी सुल्ताना पत्नी वसीम अहमद ने शिकायत दी। बताया कि धोखाधड़ी कर 25 लाख 90 हजार 600 रुपये हड़प लिए।

Sumit KumarThu, 10 Jun 2021 09:10 AM (IST)
पटेलनगर पुलिस ने ऐसे दो मामलों में मुकदमा दर्ज किया है।

जागरण संवाददाता, देहरादून: दून में जमीन धोखाधड़ी के मामले फिर पुलिस की चुनौती बढ़ाने लगे हैं। पटेलनगर पुलिस ने ऐसे दो मामलों में मुकदमा दर्ज किया है। पटेलनगर पुलिस को मेहूंवाला निवासी सुल्ताना पत्नी वसीम अहमद ने शिकायत दी। बताया कि नजमा बेगम, हनीफ और रईस निवासी मेहूंवाला ने उनके साथ धोखाधड़ी कर 25 लाख, 90 हजार, 600 रुपये हड़प लिए।

आरोपित रईस ने 2017 में उनके पति को एक संपत्ति को खरीदने का आफर दिया। मेहूंवाला माफी स्थित इस जमीन पर मकान भी बना हुआ है। वे इसे खरीदने के लिए तैयार हो गए। संपत्ति नजमा बेगम व हनीफ के नाम बताई गई। सौदा 36 लाख रुपये में तय हुआ। महिला के पति ने दो लाख रुपये आरोपित के खाते में सात जून, 2017 को जमा करा दिए। इसके बाद उन्होंने 15 लाख रुपये चेक के माध्यम से अदा किए। नजमा और हनीफ कुछ दिन बाद प्राॢथनी के पास आए और उससे और पैसे की मांग करने लगे। जिस पर उन्होंने एक लाख रुपये दे दिए। आरोपितों ने कुछ समय बाद ही संपत्ति पर कब्जा देने की बात कहकर तीन लाख रुपये की मांग की। एक अन्य प्लाट के लोन की किश्त देने के बहाने आरोपितों ने कई किश्तों में तीन लाख, 14 हजार, 600 रुपये ले लिए और उन्हें कब्जा सौंप दिया गया। बीते वर्ष लाकडाउन लगने के कारण आगे की किश्तें जमा नहीं करा सके। इसी दौरान उन्हें पता चला कि उक्त संपत्ति पर लोन लिया गया है और इसकी किश्त समय पर जमा नहीं हो रही है। जबकि विक्रय पत्र में यह तथ्य छिपाया गया। आरोपित हनीफ और नजमा बेगम ने उन्हें यह आश्वासन दिया कि वे लोन की किश्तें जमा कर देंगे। मगर उन्होंने कोई किश्त जमा नहीं कराई।

यह भी पढ़ें- Black Marketing Of Fungus: दून में फंगस के इंजेक्शन की कालाबाजारी, तीन चढ़े पुलिस के हत्थे

जमीन के नाम पर हड़पे 15 लाख रुपये

देहरादून: पटेलनगर पुलिस के मुताबिक हिमांशु कुशवाहा निवासी व्हिसलिंग बर्ड अपार्टमेंट, सहस्रधारा रोड ने जमीन धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई है। बताया कि 21 जून 2019 को अमित कुमार सिंह व कायम सिंह के साथ मिलकर मदनलाल, सुरेशपाल उर्फ सुरेश कुमार, बलवीर पाल व राकेश कुमार ने ईस्ट होपटाउन में उन्हें जमीन बेचने की बात कही। इस पर उन्होंने दो लाख रुपये का भुगतान कर दिया। जून 2019 से फरवरी 2020 के बीच विभिन्न तिथियों में 13 लाख रुपये और प्रवीण कुमार नाम के व्यक्ति को दिए। मई 2020 में रजिस्ट्री होनी थी, लाकडाउन लग गया। हालात सामान्य होने के बाद आरोपितों से कई बार जमीन की रजिस्ट्री की बात कही गई, लेकिन वे टालते रहे। शिकायतकर्ता में जांच की तो पता चला कि जमीन टीपीएल हाईटेक प्राइवेट लिमिटेड के मालिक गौरव जैन को बेच दी गई है।

यह भी पढ़ें- पिरान कलियर दरगाह के प्रबंधक को विजिलेंस ने रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा, जानिए पूरा मामला

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.