14 नोडल अधिकारी नई शिक्षा नीति का करेंगे क्रियान्वयन, महानिदेशक विद्यालय शिक्षा ने उच्‍च अधिकारियों को जारी किया पत्र

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वयन के लिए विद्यालयी शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने 16 नोडल अधिकारी और 31 सहायक नोडल अधिकारियों को नामित किया है। ये अधिकारी नई शिक्षा नीति के तहत तैयार किए जा रहे पाठ्यक्रमों को पूर्व में गठित राष्ट्रीय शिक्षा नीति प्रकोष्ठ के साथ समन्वय बनाएंगे।

Sumit KumarTue, 30 Nov 2021 04:06 PM (IST)
विद्यालयी शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने 16 नोडल अधिकारी और 31 सहायक नोडल अधिकारियों को नामित किया है।

जागरण संवाददाता, देहरादून: राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वयन के लिए विद्यालयी शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने 16 नोडल अधिकारी और 31 सहायक नोडल अधिकारियों को नामित किया है। ये अधिकारी नई शिक्षा नीति के तहत तैयार किए जा रहे पाठ्यक्रमों को लेकर पूर्व में गठित राष्ट्रीय शिक्षा नीति प्रकोष्ठ के साथ समन्वय बनाएंगे। संपूर्ण पाठ्यक्रम को 16 अध्याय में बांटा गया है। एक नोडल अधिकारी व दो सहायक नोडल अधिकारी एक अध्याय की समीक्षा करेंगे।

महानिदेशक विद्यालय शिक्षा ने सोमवार को शिक्षा महानिदेशालय से जुड़े सभी उच्च अधिकारियों को इस आशय का पत्र जारी किया। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का प्रदेश में बेहतर क्रियान्वयन हो, इसके लिए वरिष्ठ शिक्षा अधिकारियों को नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी सौंपी गई हैं। इनमें अत्रेश सयाना व प्रदीप रावत को दो-दो अध्याय की जिम्मेदारी सौंपी गई है। राय सिंह रावत, आकाश सारस्वत, पल्लवी जैन, आशारानी पैन्यूली, एसबी जोशी, कंचन देवराड़ी, डा. हेमलता, वर्षा भारद्वाज, एसपी सिंह, एमएम जोशी व कुलदीप गैरोला एक-एक अध्याय के नोडल अधिकारी होंगे। विद्यालयी शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने निर्देश दिया है कि नामित नोडल अधिकारी सप्ताहवार कैलेंडर के अनुसार राष्ट्रीय शिक्षा नीति प्रकोष्ठ के साथ समन्वय स्थापित कर इस बारे में प्रकोष्ठ को ई-मेल से जानकारी दें।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड में चिकित्सकों के 379 पदों पर जल्द होगी भर्ती, 120 पद हैं आइसीयू डाक्टरों के

दून नगर महाविद्यालय में प्रवेश चार तक

नवसृजित राजकीय महाविद्यालय, देहरादून नगर में स्नातक में प्रवेश चार दिसंबर तक होंगे। हाल ही में सरकार ने दून शहर के लिए एक नए महाविद्यालय की घोषणा की। यहां प्रभारी प्राचार्य की नियुक्ति भी कर दी गई है। इस नए महाविद्यालय का अपना भवन नहीं है। लिहाजा इस विद्यालय के लिए बीए, बीएससी व बीकाम प्रथम वर्ष में प्रवेश राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रायपुर मालदेवता व राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय डाकपत्थर में लिए जा रहे हैं। प्रभारी प्राचार्य डा. प्रभात द्विवेदी ने बताया कि इच्छुक छात्र-छात्राएं दोनों महाविद्यालय में प्रवेश ले सकते हैं। चार दिसंबर के बाद प्रवेश नहीं होंगे।

यह भी पढ़ें- Devasthanam Board: सीएम पुष्कर धामी ने देवस्थानम बोर्ड को किया भंग, जानिए अब क्या होगा अगला कदम

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.