गोरलचौड़ वारियर्स ने जीता बास्केटबाल का मुकाबला

खेल महाकुंभ के तहत गोरलचौड़ मैदान में शनिवार को भी विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

JagranPublish:Sat, 27 Nov 2021 10:09 PM (IST) Updated:Sat, 27 Nov 2021 10:09 PM (IST)
गोरलचौड़ वारियर्स ने जीता बास्केटबाल का मुकाबला
गोरलचौड़ वारियर्स ने जीता बास्केटबाल का मुकाबला

संवाद सहयोगी, चम्पावत : खेल महाकुंभ के तहत गोरलचौड़ मैदान में शनिवार को भी विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। अंडर-21 आयु वर्ग की बास्केटबाल प्रतियोगिता में गोरलचौड़ वारियर्स ने एकतरफा मुकाबले में 35-12 से जीत दर्ज की। रावण-10 की टीम दूसरे तथा राम-10 की टीम तीसरे स्थान पर रही। इसी वर्ग की फुटबाल प्रतियोगिता में लोहाघाट ने चम्पावत को 3-2 से हराकर पहला, चम्पावत ने दूसरा तथा बाराकोट ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर रहने वाली टीमों को मुख्य अतिथि जिला विकास अधिकारी एसके पंत ने पुरस्कृत कर सम्मानित किया। अंडर-17 आयु वर्ग के बालकों की टेबल टेनिस में सौरभ चौहान पहले, तरुण चतुर्वेदी दूसरे, सुनील जोशी तीसरे स्थान पर रहे। बलिकाओं में चित्रा मर्तोलिया पहले, कंचन मुरारी दूसरे स्थान पर रहीं। अंडर-14 आयु वर्ग के बालकों की टेबल टेनिस में लक्ष्यदीप बिष्ट, भावेश मालिक, रोहन सामंत, बलिकाओं में लक्ष्मी गड़कोटी, श्रेया जोशी, गरिमा जोशी पहले तीन में रहीं। जिला युवा कल्याण अधिकारी बीएस रावत, जिला क्रीड़ा अधिकारी आरएस धामी, क्षेत्रीय युवा कल्याण अधिकारी हरीश जोशी, चंदन बिष्ट, जसवंत सिंह खड़ायत, आशीष पाडेय, महेंद्र सिंह बोहरा, प्रदीप बोहरा आदि ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया। संचालन सुरेश प्रसाद विश्वकर्मा ने किया। ========== आनलाइन ऐपण में पिथौरागढ़ की वैशाली और चम्पावत की ममता ने मारी बाजी

पिथौरागढ़: घनश्याम ओली चाइल्ड वेलफेयर सोसाइटी ने लोक कला ऐपण को बढ़ावा देने के लिए आनलाइन ऐपण प्रतियोगिता का आयोजन किया। देशभर से 100 से अधिक प्रतिभागियों ने इस प्रतियोगिता में अपनी प्रतिभा दिखाई।

प्रतियोगिता में पिथौरागढ़ की वैशाली उप्रेती और चम्पावत की ममता मेहता ने पहला स्थान प्राप्त किया। नैनीताल की श्रुति पोखरिया और चम्पावत की शिवानी अधिकारी को दूसरा स्थान मिला। लखनऊ के शमशाद अहमद को तीसरा स्थान मिला। बाजपुर की यामिनी पांडे को चौथा और पिथौरागढ़ की छाया पुनेठा ने पांचवां स्थान प्राप्त किया। संस्थाध्यक्ष अजय ओली ने कहा कि ऐपण उत्तराखंड की लोक संस्कृति है। इसे बढ़ावा देने के उद्देश्य से यह प्रतियोगिता कराई गई। प्रतियोगिता में देश भर से प्रतिभागियों ने खासा उत्साह दिखाया। युवा पीढ़ी अपनी संस्कृति को लेकर सजग है और इसमें नए प्रयोग कर रही है। प्रतियोगिता को संपन्न कराने में वंदना पंत ने विशेष सहयोग दिया।