top menutop menutop menu

खेलो इंडिया में शामिल होगा स्नो शूइंग, पढ़िए पूरी खबर

जोशीमठ(चमोली), जेएनएन। केंद्रीय खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरण रिजिजू विश्व प्रसिद्ध हिमक्रीड़ा स्थल औली में तीन दिन बिताने के बाद सोमवार को दिल्ली वापस लौट गए। इससे पहले उन्होंने स्नो शूइंग पहनकर औली की ढलानों पर प्रकृति की खूबसूरती का आनंद लिया और इस खेल की जमकर तारीफ की। उन्होंने स्नो शूइंग को 'खेलो इंडिया' में शामिल करने का भरोसा भी दिलाया।   

खेल राज्य मंत्री ने कहा कि स्नो शूइंग को विंटर गेम्स में शामिल किए जाने की आवश्यकता है। इससे जहां लोगों में विंटर गेम्स के प्रति आकर्षण बढ़ेगा, वहीं पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। औली स्की एंड स्नो बोर्ड स्कूल के अध्यक्ष अजय भट्ट ने बताया कि रिजिजू पहली बार औली आए और स्नो शूइंग से काफी प्रभावित हुए। बताया कि अभी तक स्नो शूइंग  प्रतियोगिताएं अमेरिका और यूरोप में ही आयोजित होती रही हैं। भारत में पहली बार औली को इस तरह की प्रतियोगिता का श्रेय जाता है।

औली में यूरोप से 11 जोड़ी स्नो शू मंगाए गए हैं। इन्हें पहनकर पर्यटक और स्थानीय लोग स्कीइंग और  बर्फ पर चलने का आनंद लेते हैं। इससे क्रॉस कंट्री, मैराथन, बर्फ में चलने सहित अन्य प्रतियोगिता होती हैं। विदित हो कि खेल राज्य मंत्री शनिवार को औली पहुंचे थे और दो दिन तक औली स्थित भारतीय पर्वतारोहण और स्कीइंग संस्थान में रहे। यहां उन्होंने आइटीबीपी (भारत-तिब्बत सीमा पुलिस) व सेना के जवानों के साथ समय बिताया। सोमवार सुबह दस बजे वह भारतीय वायु सेना के विशेष विमान से दिल्ली के लिए रवाना हुए। 

यह भी पढ़ें: किरण रिजिजू ने लगाई औली की बर्फीली ढलानों पर दौड़, स्नो स्कूटर भी चलाया

इससे पहले, स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं और पालिकाध्यक्ष शैलेंद्र पंवार ने उन्हें स्थानीय समस्याओं से अवगत कराया। उन्होंने परसारी से औली तक रोपवे का निर्माण, जोशीमठ-औली रोपवे का गोरसों तक विस्तार, रविग्राम में स्टेडियम का राष्ट्रीय मानकों के हिसाब से विस्तार और औली में पार्किंग निर्माण की मांग की। पालिकाध्यक्ष पंवार ने बताया कि केंद्रीय राज्य मंत्री ने उन्हें क्षेत्र के विकास का भरोसा दिलाया है। 

यह भी पढ़ें: खेल राज्य मंत्री किरण रिजिजू बोले, शीतकालीन खेलों के लिए तैयार होगी कार्ययोजना

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.