बागेश्वर की सड़कों के गड्ढ़ों से यात्री परेशान

बागेश्वर की सड़कों के गड्ढ़ों से यात्री परेशान
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 04:09 PM (IST) Author: Jagran

जासं, बागेश्वर : बारिश के बाद सड़कों की हालत सुधर नहीं सकी है। जबकि सरकार ने विभागों को तीस सितंबर तक सड़कों को गड्ढ़ामुक्त करने के निर्देश दिए हैं। अब तीन दिन बचे हैं, लेकिन सड़कों से अभी मलबा ही हटाया जा रहा है। ऐसे में लोगों की दिक्कतें बढ़ गई हैं, जिससे उनमें आक्रोश है। उन्होंने सड़कों की स्थिति नहीं सुधरने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। जिले में बागेश्वर-कौसानी मोटर मार्ग की हालत सबसे अधिक खराब है। अनगिनत गड्ढ़ों वाली सड़कों से लोग परेशान हैं। लोगों का कहना है कि इनके कारण आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। कई बार विभागों को भी चेतावनी दी गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। रवांइखाल निवासी भास्कर तिवारी ने बताया कि दो सप्ताह पूर्व सड़क के गड्ढ़े मिट्टी से भरे गए। बारिश होने के बाद मिट्टी बह गई, फिर से गड्ढ़े बन गए हैं। वहीं, कपकोट तहसील से गांवों को जोड़ने वाले कई मार्ग बारिश के बाद बंद पड़े हैं। मलबा हटाया गया है, लेकिन सड़क कीचड़ से सन गई हैं। पपों-रताइश मोटर मार्ग अभी भी बंद है। 9 करोड़ रुपये व्यय करने के बावजूद छटिया-दर्शानी सड़क की हालत भी जर्जर है। वाहन चालक सड़क से परेशान हैं। स्थानीय निवासी बसंत बल्लभ जोशी ने सड़क निर्माण की जांच की है। कमेड़ीदेवी-स्यांकोट, धपोलासेरा, काफलीगैर-ओखलीसिरौद समेत तमाम सड़कों की हालत बेहद खराब है। इधर, लोनिवि के अधिशासी अभियंता केके तिलारा ने बताया कि बागेश्वर-कौसानी मोटर मार्ग में डामरीकरण और चौड़ीकरण के लिए निविदा हो गई है। शीघ्र निर्माण कार्य शुरू होगा। अब बारिश रुक गई है। सड़कों की मरम्मत का काम होगा। उधर, कपकोट के ईई एसके पांडे ने बताया कि एक सड़क बंद है, अन्य सड़कों को खोल दिया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.