डीडीए के खिलाफ उक्रांद ने बुलंद की आवाज

संवाद सहयोगी, द्वाराहाट : उत्तराखंड क्राति दल (उक्राद) ने एक बार फिर प्राधिकरण के खिलाफ आवाज बुलंद कर दी है। साथ ही पहाड़ की ज्वलंत समस्याओं मसलन पेयजल, शिक्षा, सड़क, स्वास्थ्य आदि बुनियादी मुद्दों को लेकर आंदोलन की रणनीति तय कर ली है। जल्द समस्याओं का समाधान न होने पर स्थानीय प्रशासन व सरकार के खिलाफ चार फरवरी को कार्यकर्ता तहसील का घेराव करेंगे। फिर भी सुनवाई न हुई तो 20 फरवरी तक गांव गांव जनशक्ति को एकजुट कर आदोलन खड़ा करने का निर्णय भी लिया गया है।

पार्टी कार्यालय में शुक्रवार को दल की बैठक हुई। इसमें जिला विकास प्राधिकरण को जनहित के खिलाफ करार देते विरोध तेज करने का निर्णय लिया गया। वहीं सीएचसी की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कार्यकर्ताओं ने प्रसव सुविधा व अल्ट्रासाउंड न होने पर रोष जताया। साथ ही धर्मगाव पंपिंग पेयजल योजना का लाभ न मिलने, बग्वालीपोखर के बासुलीसेरा में हाईटेंशन विद्युत लाइन से किसानों को नुकसान का मुद्दा भी जोरशोर से उठा। तय हुआ कि चार फरवरी को तहसील का घेराव करेंगे। 20 तक गांव गांव सदस्यता अभियान चलाया जाएगा। कार्यकारी अध्यक्ष जगदीश बुधानी व पूर्व विधायक पुष्पेश त्रिपाठी ने भाजपा तथा काग्रेस पर निशाना साध राज्य विरोधी बताया। अध्यक्षता आनंद सिंह बिष्ट व संचालन महेश पंत ने किया। इस मौके पर हेम रावत, भीम सिंह किरौला, मनोज अधिकारी, कैलाश फुलारा, दीपा मठपाल, हीरा अधिकारी, हरवंश बिष्ट, मोहन सिंह रावत, भुवन चौधरी, विपिन पंत, अनिल चौधरी, नरेंद्र अधिकारी आदि मौजूद रहे।

==========

ब्लॉक कार्यकारिणी का विस्तार

उक्रांद की ब्लॉक कार्यकारिणी का विस्तार किया गया है। इसमें गिरीश भट्ट व गोपाल सिंह को ब्लॉक उपाध्यक्ष, गोपाल सिंह ऐरड़ा को प्रचार सचिव, भूपाल दत्त जोशी को संरक्षक तथा नंद राम को अनुसूचित प्रकोष्ठ अध्यक्ष बनाया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.