कुष्ठ रोगियों ने लगाए लेप्रोसी मिशन पर आरोप

अल्मोड़ा स्थित करबला में स्थित लेप्रोसी मिशन के कुष्ठ रोगियों ने लेप्रोसी मिशन से परेशान होने की बात कही है।

JagranPublish:Sat, 16 Jan 2021 03:46 PM (IST) Updated:Sat, 16 Jan 2021 03:46 PM (IST)
कुष्ठ रोगियों ने लगाए लेप्रोसी मिशन पर आरोप
कुष्ठ रोगियों ने लगाए लेप्रोसी मिशन पर आरोप

संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा: करबला में स्थित लेप्रोसी मिशन के कुष्ठ रोगियों ने लेप्रोसी मिशन से परेशान होने की बात कही है। उन्होंने जिलाधिकारी से समस्याओं के समाधान की मांग की है। उन्होंने लेप्रोसी मिशन अस्पताल के प्रबंधन पर अनेक आरोप लगाते हुए अस्पताल की व्यवस्थाओं पर सवाल उठाए हैं।

कुष्ठ रोगियों का कहना है कि अकुशल प्रबंधन के कारण पिछले दो माह में तीन कुष्ठ रोगियों की मृत्यु हो गई है। कुष्ठ रोगियों से जबरन साफ सफाई घास काटना, गोबर निकालना इत्यादि कार्य करवाए जा रहे है जो कि कुष्ठ रोगियों के अधिकारों का हनन है। अस्पताल में नए कुष्ठ रोगियों को भर्ती नहीं किया जा रहा है। कुछ कुष्ठ रोगी जो कैंसर से भी पीड़ति है उनकी देखरेख नहीं की जा रही है। दवाइयां भी बाजार से स्वयं लानी पड़ रही है। पिछले दो माह में मृत तीन कुष्ठ रोगियों के बाक्स में बंद लगभग 25 हजार रुपये एवं एक की पेंशन राशि का अस्पताल प्रबंधन ने क्या किया उसका भी कोई पर्दाफाश नहीं किया गया है। कुष्ठ रोगियों के लिए दान में मिली वस्तुए जैसे टीवी, एक्वागार्ड को चिकित्सक के रूम में लगाने का आरोप लगाया है। रोगियों ने कहा कि लेप्रोसी मिशन को दी गई लीज अक्टूबर 2019 में समाप्त हो चुकी है और मेथेडिस्ट मिशन अपनी संपति को वापस लेने नहीं आ रही है। उन्होंने प्रशासन से लेप्रोसी मिशन का संचालन स्वयं अपने हाथों में लेकर बेसहारा कुष्ठ रोगियों को उत्पीड़न से बचाने की फरियाद की है। ज्ञापन देने वालों में कुष्ठ रोगी हंसी, पदम राम, हरीना, दली राम आदि शामिल रहे।