वाराणसी मंडल में 4.40 लाख कामगारों को मिलेगा पोषण भत्ता, जिलाधिकारियों को जारी की जा चुकी है राशि

कोरोना की दूसरी लहर से प्रभावित ठेला खोंमचा लगाने व रोज कमाने खाने वाले कामगारों के खाते में शीघ्र एक हजार रुपये पोषण भत्ता के रूप में भेजे जाएंगे। मंडल में चार लाख 40 हजार 600 कामगारों को पोषण भत्ता मिलेगा।

Saurabh ChakravartySun, 20 Jun 2021 10:34 PM (IST)
कामगारों के खाते में शीघ्र एक हजार रुपये पोषण भत्ता के रूप में भेजे जाएंगे।

वाराणसी, जेएनएन। कोरोना की दूसरी लहर से प्रभावित ठेला, खोंमचा लगाने व रोज कमाने खाने वाले कामगारों के खाते में शीघ्र एक हजार रुपये पोषण भत्ता के रूप में भेजे जाएंगे। मंडल में चार लाख 40 हजार 600 कामगारों को पोषण भत्ता मिलेगा। इसमें वाराणसी में 69,400, जौनपुर में एक लाख 74 हजार,, गाजीपुर में एक लाख 23 हजार, चंदौली में 73 हजार 400 का अनुमानित लक्ष्य है। सभी गांवों से जुड़े हैं। एडीओ पंचायत समेत गांव से जुड़ी मशीनरी की रिपोर्ट के आधार पर उक्त कामगारों का चयन हुआ है। शहर व निकाय से जुड़े कामगारों के नाम की फीङ्क्षडग अलग से हो रही है। वाराणसी में लगभग दो लाख कामगार पोषण भत्त्ता से लाभान्वित होंगे।

मंडल के सभी जिलाधिकारियों को पोषण भत्ता की धनराशि शासन की ओर से जारी करने की बात कही गई है। यह धनराशि जिलाधिकारी के माध्यम से ही लाभार्थियों के खाते में ट्रांसफर की जाएगी। चयनित कामगारों के नाम की फीङ्क्षडग तेजी से की जा रही है। वाराणसी में इस कार्य को 70 फीसद पूरा कर लिए जाने का दावा किया गया है। दूसरी ओर मंडल के अन्य जनपद गाजीपुर, जौनपुर व चंदौली में इसकी रफ्तार बहुत धीमी है।

बताया जा रहा है कि उन जनपदों में अभी पचास फीसद भी फीङ्क्षडग नहीं हुई है। शत-प्रतिशत चयनित के नाम, पता आदि वेबसाइट पर फीड करने में कम से कम एक सप्ताह लगेंगे। हालांकि डीएम की ओर से फीडिंग कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। कामगारों का डाटा राहत आयुक्त की वेबसाइट पर फीड किए जा रहे हैं।

मंडल में ग्रामीण क्षेत्र के कामगारों के अनुमानित लक्ष्य

69,400 वाराणसी में

1,74,000 जौनपुर में

123,800 गाजीपुर में

73,400 चंदौली में

निश्शुल्क मेडिकल कैंप

मोहल्ला शकर तालाब में रविवार को पूर्वांचल हज सेवा समिति की ओर से निश्शुल्क मेडिकल कैंप लगाया गया। इसमें करीब 200 मरीजों का चिकित्सीय परीक्षण कर दवा दिया गया। अध्यक्ष हाजी रईस अहमद ने कहा कि समिति के पिछले कई वर्षों से लगातार हज यात्रियों व समाज की खिदमत करती आ रही है। इसी कड़ी में शकर तालाब जैसे सघन व संसाधनविहीन बुनकरों के बीच मेडिकल कैंप लगाया गया है। डा. हया फरहीन, डा. हेबा शाहीन, डा. हमजा मिर्जा, डा. मुनीर सिद्दीकी, डा. त्रिभुवन सिंह व डा. अहमद बेलाल ने कैंप में सेवा दी। इस अवसर पर समिति के जनरल सेक्रेटरी डा. अकबर अली, पार्षद हाजी वकास अंसारी व पार्षद रियाजुद्दीन सहित मुमताज अंसारी, मुमताज राजू, नजीरूल हसन, पप्पू, जावेद अहमद आदि थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.