वाराणसी के नौ केंद्रों पर होगी 22 जून तक गेहूं खरीद, लाभ मिल सकेगा अनाज बेचने से बच गए किसानों को

सब कुछ ठीक रहा तो जिले में गेहूं खरीद शीघ्र ही एक-दो दिनों फिर शुरू हो जाएगी और अपनी निर्धारित तिथि 22 जून तक खरीद होगी। लेकिन बढ़ी हुई तिथि में गेहूं बेचने की यह सुविधा किसानों को जिले के सिर्फ नौ केंद्रों पर हासिल हो सकेगी।

Saurabh ChakravartyThu, 17 Jun 2021 09:17 PM (IST)
गेहूं खरीद शीघ्र ही एक-दो दिनों में फिर से शुरू हो जाएगी और अपनी निर्धारित तिथि 22 तक खरीद होगी।

वाराणसी, जेएनएन। सब कुछ ठीक रहा तो जिले में गेहूं खरीद शीघ्र ही एक-दो दिनों में फिर शुरू हो जाएगी और अपनी निर्धारित तिथि 22 जून तक खरीद होगी। लेकिन बढ़ी हुई तिथि में गेहूं बेचने की यह सुविधा किसानों को जिले के सिर्फ नौ केंद्रों पर हासिल हो सकेगी। बहरहाल, अभी तक 31 केंद्रों पर गेहूं की खरीद की जा रही थी।

सरकार द्वारा गेहूं खरीद योजना की अंतिम तिथि 15 जून से बढ़ाकर 22 जून कर दी गई है किंतु जनपद के लगभग सभी क्रय केंद्र फिलहाल बंद चल रहे हैं। लगातार बारिश के चलते अधिकांश क्रय केंद्रों के कांटे 15 जून के पहले ही बंद हो गए, इससे अंतिम दौर में केंद्रों पर पहुंचने वाले किसानों को निराशा का सामना करना पड़ा। पूरे प्रदेश से खरीद का समय बढ़ाने की मांग को स्वीकार करते हुए सरकार ने इसे 22 जून तक बढ़ा दिया किंतु अधिकांश क्रय केंद्रों के खुले में होने के कारण यह आदेश व्यावहारिक रूप न ले सका। किसानों की सुविधा को देखते हुए जिला विपणन अधिकारी ने क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी को उनके विभागों के क्रय केंद्र खोलने के लिए पत्र लिखा। कारण कि खाद्य विभाग के सभी क्रय केंद्र उनके गोदामों पर बनाए गए हैं जो पूरी तरह से बरसात से सुरक्षित हैं। ऐसे में वहां खरीदे गए गेहूं के भींगने का अंदेशा नहीं के बराबर है। विभाग के यह केंद्र जिले के प्रत्येक आठों ब्लाकों में व एक केंद्र मिल्कीचक में स्थित है। क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी ने गेहूं खरीद की अनुमति के लिए जिलाधिकारी को पत्र लिखा है। उम्मीद है कि एक-दो दिन में इस पर फैसला होते ही इन केंद्रों पर खरीद आरंभ हो जाएगी और अब तक गेहूं बेचने से वंचित रह गए किसानों को इस सरकारी योजना का लाभ मिल सकेगा।

वाराणसी में हुई रिकार्ड खरीद

जिला विपणन अधिकारी अरुण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि वाराणसी जनपद में इस बार रिकार्ड खरीद हुई है जो पिछले वर्ष की अपेक्षा छह गुना से अधिक है। उन्होंने बताया कि इस बार अब तक 4900 किसानों से 16990 एमटी गेहूं खरीदा जा चुका है जबकि पिछले वर्ष 2020-21 में महज 2756 एमटी गेहूं ही खरीदा गया था। वर्ष 2019-20 में 14770 एमटी तो 2018-19 में 14700 एमटी गेहूं खरीदा गया था। अब तक 90 फीसद किसानों को उनके खरीदे गए उपज का भुगतान भी किया जा चुका है। अब जिले में बहुत कम ही किसान गेहूं बेचने को शेष रह गए हैं। केंद्र खुल जाने के बाद वे अपने नजदीकी केंद्रों पर नियमानुसार गेहूं बेच सकते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.