top menutop menutop menu

चंदौली में दो लोगों को हिरासत में लेने से भड़के ग्रामीणों ने एसओ का किया घेराव

चंदौली, जेएनएन। कंदवा थाना क्षेत्र के अदसड़ गांव में खेत की सिंचाई में जुटे दो किसानों को पुलिस की ओर से हिरासत में लिए जाने से ग्रामीणों में आक्रोश है। ग्रामीणों ने सोमवार की सुबह गश्त पर निकले कंदवा थानाध्यक्ष का अदसड़ चौराहे पर घेराव कर दिया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। जानकारी होते ही मौके पर थाने की पुलिस और पीएसी के जवान पहुंच गए। इस दौरान ग्रामीणों को समझने का पूरा प्रयास किया गया लेकिन ग्रामीण गिरफ्तार लोगों को छोड़ने की मांग पर अड़े रहे। कुछ देर बाद एएसपी अनिल कुमार भी मौके पर पहुंचे। उनके समझाने पर ग्रामीण शांत हुए। हालांकि दोपहर में हिरासत में लिए गए दोनों किसानों को छोड़ दिया गया।

ग्रामीणों का उग्र रूप देख बैकफुट पर आ गई पुलिस

ग्रामीणों के अनुसार, गांव निवासी संतोष मौर्या व बच्चा मौर्या सिवान में अपने खेत की सिंचाई कर रहे थे। इसी दौरान सादे वेश में चार पुलिसकर्मी गांव पहुंचे और शरारती तत्व बताते हुए दोनों किसानों को हिरासत में लेकर अपनी गाड़ी में बैठा लिया। ग्रामीणों ने गिरफ्तारी का कारण जानने का काफी प्रयास किया, लेकिन पुलिसकर्मियों ने कुछ नहीं बताया और दोनों किसानों को लेकर चले गए। इससे ग्रामीणों नें आक्रोश व्याप्त हो गया। थोड़ी देर बाद कंदवा एसओ तेजबहादुर सिंह गश्त पर निकले थे। ग्रामीणों ने अदसड़ चौराहे पर एसओ का घेराव करते हुए उनके वाहन को रोक दिया। ग्रामीणों का उग्र रूप देख पुलिस बैकफुट पर आ गई।

बोले ग्रामीण, पुलिस आमजन को परेशान करने का काम कर रही है 

ग्रामीणों का कहना था कि पुलिस आमजन को परेशान करने का काम कर रही है। किसानों को गिरफ्तार कर थाने ले गई, लेकिन यह बताना उचित नहीं समझा कि किस मामले में उन्‍हें हिरासत में लिया गया है अथवा उनके खिलाफ क्या आरोप हैं। सूचना के बाद एएसपी नक्सल अनिल कुमार दलबल के साथ गांव पहुंचे। उन्होंने दोनों किसानों को छोड़ने का वादा कर ग्रामीणों को शांत कराया। वहीं दोपहर में हिरासत में लिए गए दोनों किसानों को छोड़ दिया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.