वाराणसी के गोदौलिया चौराहे पर दुकानदारों और कर्मचारियों के वाहन को रोका, पर्यटकों को मिली राहत

पुलिस ने सख्ती दिखाई तो गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट को जाने वाले मार्ग साफ दिखाई पड़े। दुकानों के आगे खड़े होने वाले वाहन मल्टी लेबल पार्किंग में खड़े दिखाई पड़े या दुकानदारों ने अन्यत्र खड़ा किया। दुकानदारों या उनके कर्मचारियों के एक भी वाहनों को अंदर जाने नहीं दिया गया।

Saurabh ChakravartyPublish:Thu, 25 Nov 2021 09:01 PM (IST) Updated:Thu, 25 Nov 2021 09:01 PM (IST)
वाराणसी के गोदौलिया चौराहे पर दुकानदारों और कर्मचारियों के वाहन को रोका, पर्यटकों को मिली राहत
वाराणसी के गोदौलिया चौराहे पर दुकानदारों और कर्मचारियों के वाहन को रोका, पर्यटकों को मिली राहत

जागरण संवाददाता, वाराणसी : पुलिस ने सख्ती दिखाई तो गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट को जाने वाले मार्ग साफ दिखाई पड़े। दुकानों के आगे खड़े होने वाले वाहन मल्टी लेबल पार्किंग में खड़े दिखाई पड़े या दुकानदारों ने अन्यत्र खड़ा किया। गुरुवार को गोदौलिया चौराहे से दुकानदारों या उनके कर्मचारियों के एक भी वाहनों को अंदर जाने नहीं दिया गया। उन्हीं वाहनों को अंदर जाने दिया गया जो क्षेत्र के रहने वाले थे। साथ ही पुलिस चेता रही थी कि सड़क पर वाहन दिखाई पड़े तो उसे उठाने के साथ सीज कर दिया जाएगा। सख्ती के चलते क्षेत्र के दुकानों के 40 कर्मचारियों ने मल्टी लेबल पार्किंग में दो पहिया वाहन खड़ा करने के लिए पास बनवाए। पाथ-वे खाली होने से पर्यटकों को आवागमन में मिली राहत।

मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल बुधवार को दशाश्वमेध घाट पर निर्माणाधीन टूरिस्ट प्लाजा की प्रगति जानने पहुंचे तो सड़क पर वाहन पार्किंग देखकर हैरान हो गए। ज्यादातर दुकानदार अपनी दुकानों के आगे वाहन खड़े किए थे। साथ में दुकान के बाेर्ड भी लगा रखे थे। उन्होंने पुलिस आयुक्त और नगर आयुक्त से सड़क पर वाहन पार्किंग होने और मल्टी लेबल पार्किंग खाली होने पर की बात कही। निर्णय लिया गया कि गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट तक के दुकानदारों के एक भी वाहन गुरुवार से अंदर नहीं जाएंगे। पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश के निर्देश पर दशाश्वमेध एसीपी ने खुद मोर्चा संभालने के साथ सुबह गोदौलिया चौराहे पर पुलिस कर्मियों की तैनाती कर दी। एक भी वाहन नहीं छोड़ने का निर्देश दिया, सिर्फ क्षेत्र में रहने वालों को इस शर्त पर जाने दिया जाए कि वह सड़क पर वाहन पार्किग नहीं करेंगे। एसीपी गोदौलिया चौराहे से दशाश्वमेध घाट तक चक्रमण करने के साथ दुकानदारों को समझाते रहे। नतीजा रहा कि मल्टी लेबल पार्किंग में वाहन खड़ा करने के लिए लोग पास बनवाना शुरू कर दिए।

मल्टी लेबल पार्किंग का नहीं दिखाई पड़ता है बोर्ड

गोदौलिया चौराहे पर बने मल्टी लेबल पार्किंग का फायदा बाहरी लोगों को नहीं मिल पा रहा है। मल्टी लेबल पार्किग को देखकर ऐसा नहीं लगता है कि वह वाहन पार्किग है या वह समझ नहीं पाते हैं। कार्यदायी संस्था ने ऊपरी मंजिल यानि करीब 50 फीट ऊपर वाहन पार्किग का बोर्ड लगा रखा है। जौनपुर के राजू सोनकर ने बताया कि आधे घंटे से चौराहे पर वाहन पार्किंग खोज रहा था लेकिन दिखाई नहीं पड़ा। एक पान के दुकानदार ने बताया कि सामने मल्टी लेबल पार्किंग है। सड़क पर दो-तीन स्थानों और वाहन पार्किंग के बाहर बोर्ड होना चाहिए।

दुकानदारों को समझाने के साथ चेतावनी भी दी गई

दुकानदारों को समझाने के साथ चेतावनी भी दी गई कि सड़क पर वाहन पार्किंग मिलने पर उस गाड़ी को सीज कर दिया जाएगा। दोबारा दुकान के सामने मिलने पर दुकानदार को दोषी मानते हुए उनके खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

-अवधेश पांडेय, एसीपी दशाश्वमेध