NDRF ने मनाया 16 वां स्थापना दिवस, जागरूकता साईकिल रैली का भी आयोजन

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल बुधवार को राष्ट्र सेवा में अपने समर्पित और गौरवशाली 16 वें स्थापना दिवस को मना रहा है। इतने समय में एनडीआरएफ ने भारत में ही नहीं अपितु विश्व में आपदा प्रबंधन में अपनी वैश्विक छाप छोड़ी है और उत्कृष्ट आपदा मोचन बल बनकर उभरा है।

Abhishek sharmaWed, 20 Jan 2021 10:24 AM (IST)
राष्ट्रीय आपदा मोचन बल राष्ट्र सेवा में अपने समर्पित और गौरवशाली 16 वें स्थापना दिवस को मना रहा है।

वाराणसी, जेएनएन। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल बुधवार को राष्ट्र सेवा में अपने समर्पित और गौरवशाली 16 वें स्थापना दिवस को मना रहा है। इतने समय में एनडीआरएफ ने भारत  में ही नहीं अपितु विश्व में आपदा प्रबंधन में अपनी वैश्विक छाप छोड़ी है और उत्कृष्ट आपदा मोचन बल बनकर उभरा है। अपने आदर्श वाक्य 'आपदा सेवा सदैव सर्वत्र' को सार्थक करते हुए वृहद पैमाने पर बहुमूल्य मानव जीवन को ही नहीं बचाया अपितु भारत में आपदा प्रबंधन क्षमता निर्माण और सार्वजनिक जागरूकता से सम्बंधित योजनाओं में भी अपना योगदान दिया है।

इस अवसर पर मंगलवार को वाहिनी मुख्यालय वाराणसी में अंतर-कंपनी स्लो मोशन साइकिल रेस, अधिकारी बनाम जवान जबरदस्त वॉलीबॉल मैच खेला गया और इसके साथ ही वाहिनी मुख्यालय से लेकर हुकुलगंज, पांडेयपुर तथा पुलिस लाइन होते हुए कोविड जागरूकता साईकिल रैली का भी आयोजन किया गया।  

वाराणसी स्थित 11 एनडीआरएफ ने पांच वर्ष के कार्यकाल में पूरे उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश में 2016 में आयी भीषण बाढ़, कुम्भ मेला उज्जैन, पुखरायां कानपुर में हुए भीषण रेल हादसा, 2017 में जाजमऊ  में ध्वस्त हुयी इमारत, 2018 में फ्लाई ओवर हादसा, 2019 प्रयागराज कुम्भ, 2020 उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश बाढ़, कोरोना महामारी में विस्थापित हुए लोगों को राहत सामग्री वितरण, मास्क-सेनिटाइज़र वितरण और विभिन्न तरह के 802 खोज, राहत व बचाव अभियानों में 53,113 मानव जीवन को बचाया है I 

इस वर्ष एनडीआरएफ उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश में संभावित आपदाओं के लिए तो तैयार है ही साथ ही विभिन्न जिलों में जिला प्रशासन के साथ जिलास्तरीय मॉक ड्रिल और नियमित अभ्यास का भी आयोजन करेगी। इन मॉक ड्रिल में जिले के विभिन्न विभाग अपनी अपनी तैयारियों के साथ उपस्थित होकर भूकंप अथवा बिल्डिंग कोलैप्स पर आधारित इस संयुक्त मॉक एक्सरसाइज में भाग लेंगे जिससे ऐसी आपदा उत्पन्न होने पर प्रत्येक विभाग अपनी उचित तैयारियों के साथ राहत बचाव कार्य कर सके। रेलवे जोन के साथ संयुक्त मॉक ड्रिल भी इस वर्ष बड़े पैमाने पर की जा रही हैं। इसके अतिरिक्त 11  एनडीआरएफ औद्योगिक आपदाओं में बेहतर राहत व बचाव करने के लिए विभिन्न आयल रिफायनरी, एलपीजी प्लांट और इंडियन आयल कारपोरेशन के साथ संयुक्त मॉक ड्रिल का आयोजन कर रही है।  

स्थापना दिवस के अवसर पर अलोक कुमार सिंह, उप महा निरीक्षक 11  एनडीआरएफ ने बल के सभी कार्मिकों को बधाई देते हुए कहा कि बीता वर्ष 2020 बहुत चुनौतियों भरा रहा है जिसमें बल के सभी जवानों ने सम्पूर्ण कर्तव्यनिष्ठा के साथ जन सेवा में अपनी प्रखर भूमिका निभाई। अतः इस अवसर पर हम सब मिलकर इस नए वर्ष में यह संकल्प लेते हैं कि इसी तरह से मानव सेवा में समर्पित भाव से लोगों की सहायता व सेवा करते रहेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.