वाराणसी में 200 नाविकों का वैक्सीनेसन, टाटा मेमोरियल सेंटर और एल्केम लैबोरेट्रीज की विशेष पहल

भारत सरकार की ओर से व्यापक स्तर पर लोगों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। बीमारी के प्रसार को रोकने में वैक्सीन की भूमिका अहम है ऐसे में टाटा मेमोरियल सेंटर और एल्केम लैबोरेट्रीज ने देश में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान से जुड़ने का फैसला किया है

Abhishek SharmaThu, 23 Sep 2021 11:38 AM (IST)
भारत सरकार की ओर से व्यापक स्तर पर लोगों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है।

वाराणसी, जागरण संवाददाता। कोरोना से हर किसी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए टाटा मेमोरियल सेंटर और एल्केम लैबोरेट्रीज की तरफ से बनारस के घाटों और आसपास के इलाकों में रहने वाले नाविकों के लिए एक विशेष वैक्सीनेशन अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत अब तक 200 से अधिक नाविकों को कोरोना से बचाव के लिए निःशुल्क वैक्सीन लगई गई है। गौरतलब है कि इस अभियान की शुरुआत सोमावर से हुई है, जो शुक्रवार तक जारी रहेगा।

कोरोना से बचाव के मद्देनजर देशभर में भारत सरकार की ओर से व्यापक स्तर पर लोगों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। बीमारी के प्रसार को रोकने में वैक्सीन की भूमिका अहम है, ऐसे में टाटा मेमोरियल सेंटर और एल्केम लैबोरेट्रीज ने देश में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान से जुड़ने का फैसला किया है और बनारस के नाविक समुदाय के लिए व्यापक स्तर पर एक विशेष कार्यक्रम चलाकर उनका वैक्सीनेशन किया जा रहा है। इस अभियान के लिए शहर के नाविकों ने टाटा मेमोरियल सेंटर और एल्केम लैबोरेट्रीज का शुक्रिया अदा किया है।

वाराणसी स्थित टाटा मेमोरियल की इकाई महामना पंडित मदन मोहन मालवीय कैंसर केंद्र एवं होमी भाभा कैंसर अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आकाश आनंद ने बताया कि अस्पताल में कैंसर मरीजों और उनके परिजन को निःशुल्क कोविड वैक्सीन लगाई जा रही है। ऐसे में हमने सोचा कि क्यों न ही इसे और बड़े स्तर पर किया जाए, जिसके बाद हमने नाविकों का वैक्सीनेशन करने का फैसला किया। इसमें हमें एल्केम लैबोरेट्रीज का भी सहयोग मिल रहा है। चूंकि बनारस की पहचान घाटों से है और रोजी-रोटी के लिए नाविक ज्यादातर समय घाटों पर ही रहते हैं, इसलिए यह अभियान घाट पर चलाया जा रहा है, ताकि उन्हें कहीं जाना न पड़े और अपना दैनिक कार्य करते हुए वो वैक्सीनेशन भी करा लें।

इस अभियान को सफल बनाने के लिए अस्पताल के सामाजिक चिकित्सा कार्यकर्ता विभाग (एमएसडब्ल्यू), मेडिकल ऑफिसर डॉ. अवधेश भारती, नर्सिंग स्टाफ, सीआरओ एवं मरीजों की मदद के लिए अस्पताल में कार्यरत “केवट” कड़ी मेहनत कर रहे हैं। विभाग न केवल वैक्सीनेशन के लिए नाविकों को प्रेरित करने का काम कर रहा, बल्कि जल्द से जल्द नाविकों का वैक्सीनेशन पूरा करने में भी अहम भूमिका निभा रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.