बलिया के सिकंदरपुर में गड़ही में डूबने से दो बच्चों की मौत, नहाते समय हुआ हादसा

बलिया के सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के जलालीपुर गांव में बुधवार की शाम गड़ही में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई। इससे दोनों के परिवार वालों में कोहराम मच गया। स्थानीय लोगों ने गुरुवार की सुबह गड़ही के बगल में जब साइकिल देखी तो स्वजनों को सूचना दी।

Saurabh ChakravartyThu, 16 Sep 2021 10:47 AM (IST)
दो बच्‍चों की मौत के बाद घर के बाहर जुटे लोग।

जागरण संवाददाता, बलिया। सिकंदरपुर थाना क्षेत्र के जलालीपुर गांव में बुधवार की शाम गड़ही में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई। इससे दोनों के परिवार वालों में कोहराम मच गया। स्थानीय लोगों ने गुरुवार की सुबह गड़ही के बगल में जब साइकिल देखी तो स्वजनों को सूचना दी। मौके पर पहुंचे परिजन दोनों के शवों को बाहर निकालकर घर चले गए। चेतन किशोर के मैदान में आसपास के बच्चे खेलने के लिए शाम को इकट्ठा होते हैं। बुधवार की शाम जलालीपुर निवासी 10 वर्षीय तेजस्व बरनवाल पुत्र मनोज कुमार बरनवाल अपने दोस्त आठ वर्षीय विशाल चौहान पुत्र सुरेंद्र चौहान के साथ साइकिल से मैदान में खेलने के लिए गया था। इस दौरान दोनों गड़ही में नहाने लगे। नहाते समय दोनों गहरे पानी में डूब गए। मौसम खराब होने के कारण सुनसान इलाके में किसी ने उनको डूबते हुए नहीं देखा। उधर परिजन दोनों के घर न आने पर देर रात तक इधर-उधर खोजते रहे। गुरुवार की सुबह टहलने के लिए मैदान पहुंचे स्थानीय लोगो ने गड्ढे के पास साइकिल देखी। गड़ही के पास पहुंचे तो बच्चों के शव उतराए दिखाई दिए। शोरगुल सुनकर मौके पर भीड़ जुट गई। थोड़ी देर बाद पहुंचे स्वजन बच्चों के शव देखकर दहाड़ें मारकर रोने लगे।

दोनों थे गहरे दोस्त

गड़ही में डूबने से हुई दोनों बच्चों की मौत के बाद घरों पर एकत्र लोग यही बात कर रहे थे कि दोनों बच्चे अच्छे दोस्त थे। साथ खेलते थे। अक्सर उन्हें साथ देखा जाता था।

पोखरे में डूबने से बालक की मौत : बांसडीह कस्बे के पश्चिम टोला में तीन वर्षीय बालक की पोखरे में डूबने से मौत हो गई। उसके स्वजनों में कोहराम मच गया। मंगलवार की शाम उमेश मिश्र अपने पुत्र श्लोक को लेकर रोज की भांति शिव मंदिर गए थे। वे मंदिर परिसर में बैठकर किसी से बात करने लगे। श्लोक वहीं पास में खेल रहा था। वह पोखरे की तरफ चला गया। पोखरे में गिरने से वह डूब गया। इधर बेटे को न पाकर पिता परेशान हो गए। उन्होंने खोजबीन शुरू की। कुछ देर बाद किसी की निगाह पोखरे में उतराए बालक पर पड़ी। आनन-फानन में उसे बाहर निकाल कर अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। उसकी मां व दो बहनों का रोते-रोते बुरा हाल है। पिता बेसुध हो गए हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.