मऊ में युवती संग सामूहिक दुष्‍कर्म के बाद छत से फेंक कर जान से मारने की कोशिश

एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसे छत से फेंक दिया गया।
Publish Date:Sat, 24 Oct 2020 11:09 AM (IST) Author: Abhishek Sharma

मऊ, जेएनएन। वलीदपुर क्षेत्र के एक मोहल्ले में शुक्रवार की रात लगभग नौ बजे एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसे छत से फेंक कर हत्या करने के प्रयास का मामला सामने आया है। युवती को छत से फेंके जाने से उसे काफी गंभीर चोटें आई हैं। उसे आजमगढ़ की सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। पीड़िता के परिजनों ने आरोपियों के विरुद्ध कोतवाली में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। वहीं युवती संग सामूहिक दुष्‍कर्म का मामला सामने आने के बाद आनन फानन पुलिस भी सक्रिय हो गई है।

प्रदेश सरकार जहां महिलाओं की सुरक्षा के लिए मिशन शक्ति जागरूकता अभियान चला रही है, वहीं महिलाओं के साथ उत्पीडऩ का सिलसिला भी जारी है। स्थानीय कस्बे के एकम मुहल्ले में एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म कर दरिंदों ने उसे जान से मारने की नीयत से छत से नीचे फेंक दिया। इससे पीडि़ता पैर फ्रैक्चर हो गया तथा हाथ, मुंह, सीने समेत शरीर की कई हड्डियों में चोटें आईं और दांत टूट गए। दरिंदगी की यह घटना शुक्रवार की रात लगभग 9:00 बजे की है। हैवानों की संख्या आधा दर्जन बताई जा रही है। गंभीर रूप से घायल पीडि़ता को आजमगढ़ मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पीडि़ता के भाई ने आधा दर्जन आरोपितों के विरुद्ध तहरीर देते हुए तीन के विरुद्ध नामजद मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है।

युवती के परिवार वालों घर से कुछ दूरी पर पावलूम है। शुक्रवार की रात 8.00 बजे जब बिजली आई तो युवती अपने लूम पर बुनकरी के काम के लिए जा रही थी। बीच में एक व्यक्ति का सूनसान मकान है। उसमें कोई नहीं रहता है। वहां पहले से ही घात लगाए कुछ लोग उसे दबोच लिए और कमरे के अंदर लेकर चले गए। आरोप है कि उसके साथ दरिंदों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। उनके चंगुल में फंसी युवती की चीख सुनकर आसपास के लोग जुट गए। इस पर आरोपितों ने पीडि़ता को छत से नीचे ढकेल दिया और सभी फरार हो गए। छत से नीचे गिरने पर पीडि़ता का एक पैर फ्रैक्चर हो गया वहीं उसके सीने व मुंह में गंभीर चोटें आईं। उसकी हालत गंभीर देख कर परिजनों ने उसे आनन-फानन में सदर हास्पिटल आजमगढ़ में भर्ती कराया। वहां उसकी हालत अभी भी चिंताजनक बताई जा रही है। इधर कोतवाली पुलिस सामूहिक दुष्कर्म की घटना को एक सिरे से खारिज कर रही है। पुलिस आरोपितों की धर-पकड़ के लिए उसके संभावित ठिकानों पर छापेमारी लगातार कर रही है।

बोले पुलिस अधिकारी

यह मामला हमारे संज्ञान में नहीं है। यदि ऐसा हुआ है तो मामले की जांच कराई जाएगी, दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई होगी। -नंदलाल, क्षेत्राधिकारी, मुहम्मदाबाद गोहना, मऊ।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.