Top Varanasi News Of The Day, 23 september 2019 : आध्‍यात्मिक गुरु जग्‍गी वासुदेव ने किया संबोधित, अजन्मी बेटियों के मोक्ष के लिए श्राद्ध, पूर्वांचल में बाढ़ बनी आफत

वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने सोमवार को सुर्खियां बटोरीं। जिनमें आध्‍यात्मिक गुरु जग्‍गी वासुदेव ने किया संबोधित, अजन्मी बेटियों के मोक्ष के लिए श्राद्ध, पूर्वांचल में बाढ़ बनी आफत, जानें सप्‍ताह भर के मौसम का हाल, बिजली दरों को लेकर सपा ने दिया धरना आदि खबरें सर्वाधिक चर्चा में रहीं। जानिए शाम पांच बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

 

'काशी क्रम' के अायोजन में आध्‍यात्मिक गुरु जग्‍गी वासुदेव ने अनुयायियों को किया संबोधित

'बांडिंग विथ लाइट' थीम पर आयोजित आध्‍यात्मिक कार्यक्रम के अंतिम दौर में काशी में वीआइपी और वीवीआइपी लोगों का जमावड़ा हुआ है। ईशा फाउंडेशन के अध्‍यक्ष सद्गुरु जग्‍गी वासुदेव 21-24 सितंबर तक आयोजित आध्‍यात्मिक आयोजन 'काशी क्रम' में शामिल होने के लिए काशी में हैं। इस आध्‍यात्मिक आयोजन में शमिल होने के लिए देश-विदेश से उनके 500 से अधिक अनुयायी वाराणसी पहुंचे हैं। सभी अतिथि पूर्व नियोजित कार्यक्रम के तहत वाराणसी के बृजरमा पैलेस में ठहरे हुए हैं।

कोख में मार दी गई बेटियों के लिए काशी में श्राद्ध का आयोजन, अजन्मी बेटियों के मोक्ष की भी कामना

मोक्ष की नगरी काशी में सोमवार की दोपहर में उन बेटियों के लिए भी श्राद्ध का आयोजन किया गया जिनको कोख में ही बेटे की चाह में माता पिता ने ही मार डाला। ऐसी ही अजन्‍मी बेटियों के लिए मोक्ष नगरी काशी में श्राद्ध के जरिए मोक्ष की कामना की गई। प्रत्‍येक वर्ष सामाजिक संस्‍था की ओर से बेटी बचाओ के संदेश के साथ ही समाज में व्‍याप्‍त बेटियों के प्रति भेदभाव को भी दूर करने की ईश्‍वर से कामना की गई। सामाजिक उत्‍तरदायित्‍वों के निर्वहन के क्रम में संस्था आगमन की ओर से उन अजन्मी बेटियों की आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध - कर्म किया जिनकी ह्त्या उन्हीं के मां की कोख में ही बेटे की चाह में कर दी गई।

 

पूर्वांचल में बाढ़ बनी आफत, गंगा और वरुणा नदी के तटवर्ती इलाकों में दुश्‍वारी बरकरार

पूर्वांचल में बीते सोमवार से जारी गंगा में उफान ने सप्‍ताह भर में इतनी समस्‍या दे दी कि लोगों के घर, खेत और पशु तक दुश्‍वारी में आ गए। सपताह भर में गंगा, वरुणा, असि और गोमती नदी के किनारे रहने वालों ने बाढ़ की आफत से बचने की जुगत तलाशने से लेकर जिंदगी की लंबी जंग लड़ने को विवश है। मीरजापुर, वाराणसी, गाजीपुर और बलिया जिले में गंगा अब भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं और चिंता और घबराहट लोगों को लगातार दे रही हैं। देर रात तक कुछ इलाकों में गंगा का रुख जहां थम गया वहीं कुछ नए इलाकों में भी जलभराव होने से बाढ़ से चिंता लोगों में घर कर गई है। वाराणसी और मीरजापुर में मामूली घटाव का रुख आधी रात के बाद से शुरू होने से प्रशासन ने राहत की सांस ली है।

 

Weather  Forecast : तापमान में कमी के साथ पूर्वांचल के आकाश पर बादलों का कब्‍जा, जानें सप्‍ताह भर के मौसम का हाल

पूर्वांचल से मानसून का अमूमन विदायी का ये मौसम होता है मगर देर से आया मानसून अब देर से विदायी के मूड में है। सोमवार की सुबह भी आसमान में बादलों की आवाजाही रही और सूरज की किरणें बादलों को भेदने की कोशिश करती रहीं। जब‍कि तापमान में कमी होने से सुबह ठंड में भी और इजाफा हुआ है। मौसम विभाग की ओर से जारी साप्‍ताहिक मौसम की संभावनाओं के मुता‍बिक सप्‍ताह भर लगातार बादलों की आवाजाही बनी रहेगी और रह रहकर बारिश भी बादल कराते रहेंगे। उम्‍मीद जताई जा रही है कि अक्‍टूबर माह के पहले सप्‍ताह से मानसून की विदायी होने लगेगी और इसी के सा‍थ पूर्वांचल में सुबह का कोहरा और कुहासा का दौर शुरू होगा और ठंड उततर भारत में दस्‍तक दे देगी। 

उत्‍तर प्रदेश में बिजली की दरों में बढोतरी के खिलाफ समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

उत्‍तर प्रदेश में बिजली बिल में बेतहाशा वृद्धि, मीटर में आये दिन आ रही गड़बडियों, उपकेंद्रों पर शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही के खिलाफ समाजवादी पार्टी ने भेलूपुर स्थित उपकेंद्र पर सोमवार को धरना- प्रदर्शन किया। पार्षद दल नेता कमल पटेल, पूर्व पार्षद वरुण सिंह, युवजन सभा के प्रदेश सचिव सत्यप्रकाश सोनकर सोनू, शिक्षक सभा के नि. जिलाध्यक्ष संजय प्रियदर्शी, कैंट विधानसभा के नि. अध्यक्ष विवेक यादव, ब्लाक प्रमुख प्रवेश पटेल, पार्षद गोपाल यादव, पूर्व पार्षद उमेश यादव ने किया। प्रदर्शन में कार्यकताओं ने 'बिजली विभाग होश में आओ, जनता को अब और न सताओ' और 'मीटर की वजह से बढ़ी बिजली बिल वापस लो वापस लो' के नारे भी लगाए। 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.