Top 5 Varanasi News Of The Day 26 February 2021 : पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पहुंचे काशी, बीएचयू में छात्रों का धरना खत्‍म, भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर पहुंचे वाराणसी

बनारस शहर की कई खबरों ने 26 फरवरी 2021 शुक्रवार को सुर्खियां बटोरीं।

बनारस शहर की कई खबरों ने शुक्रवार यानी 26 फरवरी को सुर्खियां बटोरीं जानिए शाम तीन बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें जो दिन भर चर्चा में बनी रहीं और लोगों की नजरें भी उन खबरों पर रही।

Abhishek sharmaFri, 26 Feb 2021 03:36 PM (IST)

वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने शुक्रवार यानी 25 फरवरी को सुर्खियां बटोरींं जिनमें पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पहुंचे काशी, बीएचयू में छात्रों का धरना खत्‍म, भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर पहुंचे वाराणसी, एलपीजी का भी वाराणसी बंदरगाह तक परिवहन, सीर गोवर्धनपुर बना मिनी पंजाब आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम चार बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान दो दिन के वाराणसी दौरे पर पहुंचे, बोले - सर्दी के कारण बढ़ा है गैस का दाम

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान शुक्रवार की सुबह लाल बहादुर शास्‍त्री इंटरनेशनल एयरपोर्ट बाबतपुर से शहर प्रस्थान किये। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान दो दिवसीय वाराणसी दौरे पर हैं। इस दौरान वह काशी विश्वनाथ मंदिर और काल भैरव में पूजा-अर्चना, करने के अतिरिक्‍त मीरजापुर में मांं विंध्यवासिनी मंदिर में दर्शन-पूजन के कार्यक्रम में हिस्‍सा लेंगे। रात्रि विश्राम वह बनारस रेल इंजन कारखाना के गेस्ट हाउस में करेंगे। शनिवार को धर्मेन्द्र प्रधान रविदास जयंती के आयोजन में भी शामिल होने के लिए सीर गोवर्धन भी जाएंगे। शुक्रवार को वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गैस के दाम में हुए बढ़ोतरी को लेकर कहा कि सर्दी के कारण गैस दाम बढा है। जैसे-जैसे मौसम बदलेगा दाम कम हो जाएगा। यह अंतरराष्ट्रीय मामला है जैसे-जैसे सर्दियां कम होंगी गैस का दाम भी घटेगा, अभी डिमांड ज्यादा है। वहीं डीजल पेट्रोल के मूल्य वृद्धि पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

BHU में पुलिस ने पांच छात्रों को हिरासत में लेकर धरना खत्म कराया, रिहाई के बाद मना जश्‍न

विश्वविद्यालय पूरी तरह से खुलवाने को लेकर बीएचयू मुख्य द्वार पर धरनारत पांच छात्रों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इसके बाद बीएचयू मुख्य द्वार को धरना से मुक्त कराकर पांचवें दिन पूरी तरह खोल गेट खोल दिया गया। मगर बाद में हास्टल से आये अन्‍य छात्रों ने मुख्य द्वार के पीछे धरना शुरू कर दिया है। वहींं जानकारी होने के बाद अन्‍य छात्र भी आ गए और लंका थाने को घेरकर हिरासत में लिए गए छात्रों की रिहाई की मांग करने लगे। काफी देर तक लंका थाने पर जिच कायम रहने के बाद हिरासत में लिए गए छात्रों को हिदायत के साथ रिहा कर दिया गया। रिहाई के बाद छात्र जश्न मनाते हुए वापस लौट गए। गुरुवार को एडीएम सिटी गुलाबचंद द्वारा चेतावनी देने के बाद से ही उनको हिरासत में लिए जाने का अंदेशा लग रहा था, जो शुक्रवार की तड़के हुआ भी। करीब साढ़े छह बजे के बाद धरना दे रहे छात्रों को जोर-जबरदस्ती कर घसीटते हुए पुलिस ने अपने वाहन में बिठाया। इसमें करीब पांच छात्र शामिल हैं, जिसमें - अनुपम कुमार, आमरण अनशन पर बैठे आशुतोष कुमार, सुमित, पवन अविनाश आदि के नाम सामने आए। सभी को पुलिस वैन से थाने ले जाया गया और छात्रों की मांग पर उनको सुबह दस बजे तक छोड़ भी दिया गया।

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर पहुंचे वाराणसी, बोले - 'बुआ अब आराम करें, भतीजे काम कर रहे हैं'

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर भी शुक्रवार को वाराणसी पहुंचे। चंद्रशेखर के आगमन से पूर्व ही काफी संख्या में भीम आर्मी से जुड़े नेता और कार्यकर्ता बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंच गए। समर्थकों ने बताया कि पूर्व में भी वह रविदास जयंती के मौके पर सीर गोवर्धनपुर स्थित रविदास मंदिर जा चुके हैं। ऐसे में सीरगोवर्धनपुर स्थित संत रविदास जन्मस्थली जाने के साथ रविदास जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में भी वह शामिल होंगे। एयरपोर्ट पर पहुंचे भीम आर्मी के गोरखपुर मंडल के मंडल अध्यक्ष विनय सागर ने बताया कि चंद्रशेखर का आगमन वाराणसी एयरपोर्ट होने के बाद वह शहर में आयोजित कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए रवाना हो गए। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर शुक्रवार को सुबह 10.50 बजे एयर इंडिया के विमान से वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे। हवाई अड्डे पर मीडियाकर्मियों से बात के दौरान उन्होंने मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि भतीजे अब काम कर रहे हैं और बुआ को आराम करना चाहिए।

भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण के जरिए एलपीजी का भी वाराणसी बंदरगाह तक परिवहन

वाराणसी-हल्दिया तक के भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण (आईडब्ल्यूएआई)की ओर से राष्ट्रीय जलमार्ग-1 और राष्ट्रीय जलमार्ग-2 पर अब मालवाहक नौकाओं के माध्यम से एलपीजी का भी परिवहन हो सकेगा। इसके लिए एमओएल (एशिया ओशियानिया) संगठन के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर होने की जानकारी संबंधित विभाग के मंत्री की ओर से जारी की गई है। गंगा के रास्‍ते कोलकाता से वाराणसी रामनगर बंदरगाह तक एमओएल समूह मेक इन इंडिया पहल को समर्पित एलपीजी नौकाओं के निर्माण और संचालन के लिए भी व्‍‍‍यापक स्‍‍‍‍तर पर निवेश करेगा। इस बाबत विभागीय मंत्री की ओर से इंटरनेट मीडिया पर भी जानकारी साझा की गई है। इस बात की जानकारी देते हुए मंत्री ने संबंंधित समूह की ओर से एलपीजी भंडारण टर्मिनल स्थापित करने के साथ टर्मिनल से टर्मिनल के बीच पाइपलाइनों और मालवाहक नौकाओं से उत्पादों को एक जगह से दूसरे जगह तक पहुंचाने के लिए जेटी में आवश्यक बुनियादी ढांचे के लिए निवेश का भी प्रस्ताव है। इसके लिए भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण गंगा में पर्याप्त यातायात की व्‍यवस्‍था करेगा और पाक्षिक या मासिक आधार पर पट्टा उपलब्ध करने के साथ संचालन को लेकर विशिष्‍ट जानकारी भी प्रदान करेगा।

संत रविदास जयंती पर्व के मौके पर सीर गोवर्धनपुर बना मिनी पंजाब, अटूट लंगर में छका गुरु का प्रसाद

सीर गोवर्धन में शुक्रवार की सुबह सन्त रविदास जयंती के अवसर पर जालंधर के डेरा सच्‍चा बल्‍लखंड (बल्‍लां) के महंत और रैदासियों के शीर्ष गुरु निरंजन दास महाराज ने लंगर स्थल का निरीक्षण किया। लंगर स्‍थन का निरीक्षण करने के साथ ही उन्‍होंने परिसर और चल रही तैयारियों का भी जायजा लिया। सुबह गुरु संत निरंजन दास का आशीर्वाद लेने के लिए रैदासियों ने अपनी श्रद्धा प्रकट करते हुए गुरु के चरणों में हाजिरी लगाई और आशीष प्राप्‍त किया। वीआइपी और वीवीआइपी के आगमन को देखते हुए व्यवस्था की तैयारियों के लिए शुक्रवार की सुबह एडीएम सिटी और एसपी सिटी भी पहुंचे और व्‍यवस्‍था को बनाए रखने के लिए आवश्‍यक दिशा निर्देश भी दिए। मंदिर परिसर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्र्रा, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, सपा मुखिया अखिलेश यादव, भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर सहित दर्जनों प्रमुख लोग हाजिरी लगाने पहुंच रहे हैं।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.